आगरा. विक्रमशिला एक्सप्रेस से आनंद विहार टर्मिनल्स से आनंद विहार टर्मिनल्स तक यात्रा कर रही एक प्रेगनेंट महिला पैसेंजर की डिलीवरी टीटीई की मदद से सुरक्षित संभव हो सकी.

सूचना मिलते ही दौड़ पड़े टीटीई

मामला शुक्रवार का है. गाड़ी संख्या 12368 विक्रमशिला एक्सप्रेस में आनंद विहार टर्मिनल्स भागलपुर तक शीलू नामक महिला ट्रेवल्स कर रही थी. इस दौरान एक्सप्रेस के कोच संख्या एस-8 में कार्यरत टीटीई सुरेश कोरी को कुछ पैसेंजर्स ने सूचना दी कि एक महिला को गंभीर तकलीफ हो रही है. पैसेंजर्स महिला एस-8 कोच की बर्थ नं 24 पर अपने 65 वर्षीय ससुर के साथ यात्रा कर रही थी. उसके ससुर एस-7 के बर्थ नं 20 पर थे. टीटीई सुरेश ने तुरन्त जाकर देखा तो पता चला कि महिला पैसेंजर्स को प्रसव पीड़ा हो रही है. टीटीई ने तुरन्त इसकी सूचना टूण्डला कंट्रोल रूम में दी. उन्होंने तुरन्त चिकित्सकीय सहायता मांगी. स्थिति की गंभीरता को देखते हुए एक प्रशिक्षित महिला उपलब्ध करा दी गई . अन्य महिला पैसेंजर्स की मदद से सुरक्षित प्रसव संपन्न कराया गया. इस दौरान टीटीई ने चादरें, पैंट्रीकार से साफ पानी, बाल्टी व अन्य सामान उपलब्ध कराया गया. उन्होंने अपने पास से व अन्य पैसेंजर्स के सहयोग से 6 हजार रुपये की सहायता उपलब्ध कराई.

टूण्डला स्टेशन पर हुआ नवजात शिशु का चेकअप

जब ट्रेन टूण्डला स्टेशन पर पहुंची तो रेलवे के डॉक्टर अभिषेक सिंह ने प्रसूता व नवजात शिशु का चेकअप किया.इसके बाद महिला के ससुर ने अपने गंतव्य की ओर जाने इच्छा जताई तो टूंडला स्टेशन पर रेल कर्मियों ने चिकित्सक की अनुमति से उन्हे गाड़ी सं 13484 से गंतव्य के लिये अनुमति प्रदान कर दी. इसके लिए महिला व उसके ससुर ने सहयोग के लिए टीटीई सुरेश कोरी व रेलवे को धन्यवाद दिया. इस पर एनसीआर के जीएम रतन लाल ने सुरेश कोरी द्वारा उनके इस तत्परतापूर्ण कर्तव्य निर्वहन की सराहना की.