- फ्राईडे तक मिल सकती है सिग्नेचर सिटी को एनवॉयरमेंट क्लियरेंस

- निर्माणकार्य शुरू करने के लिए बिल्डिंग मैटेरियल, मजदूर जुटाने का काम शुरू

KANPUR: सिग्नेचर सिटी को इसी सप्ताह एनवॉयरमेंट क्लियरेंस मिलने की उम्मीद से एकबार फिर से निर्माण कार्य शुरू करने की तैयारी हो गई है. बिल्डिंग मैटेरियल मंगाने के साथ मजदूर भी जुटाए जाने लगे हैं.

एनजीटी ने लगाई थी रोक

विकास नगर स्थित रोडवेज की जमीन पर केडीए सिग्नेचर सिटी बसा रहा है. इसमें 1100 से अधिक टू व थ्री बीएचके फ्लैट बनाए जा रहे हैं. रोडवेज इम्प्लाई के लिए 80 वन बीएचके फ्लैट पहले ही बनाए जा चुके हैं. इसके अलावा लगभग 550 करोड़ के इस प्रोजेक्ट में मॉडर्न बस स्टैंड, कॉमर्शियल काम्प्लेक्स, होटल आदि भी प्रपोज्ड है. लेकिन पिछले साल एक रिट की सुनवाई करते हुए एनवॉयरमेंट एनओसी न होने की वजह से नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने इस प्रोजेक्ट पर रोक लगा दी थी. बाद में इस मामले की सुनवाई की जिम्मेदारी स्टेट एनवॉयरमेंट इम्पैक्ट असेसमेंट अथॉरिटी को दी गई. सुनवाई व सिग्नेचर सिटी के निरीक्षण के बाद अथॉरिटी ने केडीए को करीब 1.25 करोड़ रुपए बैंक गारंटी जमा करने का आदेश दिया. इस महीने की शुरूआत में अथॉरिटी ने केडीए के बैंक गारंटी जमा करने पर एनवॉयरमेंट क्लियरेंस के लिए एनवॉयरमेंट कमेटी को रिकमंड कर दिया था. कमेटी की मीटिंग पिछले वीक हुई थी. केडीए के एक्सईएन आरपी सिंह ने कहा कि अभी बिल्डिंग मैटेरियल, लेबर जुटाए जा रहे हैं. केडीए वीसी सौम्या अग्रवाल ने बताया कि मीटिंग के मिनट्स पर साइन किए जा रहे हैं. दो-तीन दिन में मिनट्स जारी होने के साथ ही फ्राईडे तक क्लियरेंस मिल जाने की उम्मीद है.