- सुबह को कॉलेज जाते समय श्याम गंज पुल पर हुआ हादसा

-घायल हालत में राहगीरों ने पहुंचा हॉस्पिटल

bareilly@inext.co.in

BAREILLY: डेलापीर से कैंट के इंटर कॉलेज जा रही आरएन टैगोर इंटर कॉलेज की प्रिंसिपल थर्सडे को श्यामगंज पुल पर चायनीज मांझा की चपेट में आ गई. मांझा से प्रिंसिपल की आंख और नाक पर गंभीर चोट आई है. गंभीर हालत में स्कूटी सवार घायल प्रिंसिपल को किसी तरह राहगीरों की मदद से पुलिस ने हॉस्पिटल पहुंचाया.

आरएन टैगोर में हैं पि्रंसिपल

डेलापीर के कृष्णायन कॉलोनी निवासी अरुण कुमार की पत्नी बीना जौहरी कैंट के आरएन टैगोर इंटर कॉलेज में प्रिंसिपल हैं. वह थर्सडे सुबह कॉलेज जाने के लिए स्कूटी से निकली थीं. जैसे ही वह सुबह नौ बजे करीब श्यामगंज पुल पर पहुंचीं तभी उनके चेहरे पर चायनीज मांझा फंस गया. वह कुछ समझ पाती तब तक उनकी तक नाक और आंख पर गंभीर घाव हो गया. खून से लथपथ हालत में राहगीरों ने पुलिस को सूचना दी. पुलिस ने घायल बीना को डेलीपीर रोड के निजी हॉस्पिटल में एडमिट कराने के बाद परिजनों को सूचना दे दी. सूचना मिलते ही परिजन भी हॉस्पिटल पहुंच गए. डॉक्टरों ने बताया कि प्रिंसिपल के नाक और आंख में चोआई हैं.

पहले भी हो चुके हैं हादसे

-14 फरवरी 2018 को कांस्टेबल आरती शुक्ला की श्यामगंज फ्लाई ओवर पर गर्दन कट गई. डॉक्टरों ने आपरेशन के बाद बताया कि मांझे से 15 सेमी. लम्बी और चार सेमी. गहरा घाव हुआ है. किसी तरह गंभीर हालत में डॉक्टरों ने महिला की जान बचाई

-28 जनवरी 2018 को गुलाब नगर निवासी बाइक सवार सिद्धार्थ की श्यामगंज फ्लाई ओवर पर गर्दन कट गई. गंभीर हालत में राहगीरों ने उन्हें हॉस्पिटल में एडमिट कराया था

-28 जनवरी 2018 को ही राजेन्द्र नगर निवासी बिजली सब स्टेशन के आपरेटर सीपी सिंह भी मांझे की चपेट में आ गए. इससे उनके भी नाक कट गई जिसके बाद उन्हें प्लास्टिक सर्जरी करानी पड़ी

- 7 जून 2018 वीर सांवरकर निवासी संदीप के बेटे रौन अदलखिया की बटलर प्लाजा से लौटते समय गर्दन कट गई. रौनक सीए बाइक से हेलमेट भी लगाए हुए थे लेकिन इसके बाद भी गर्दन तक मांझा पहुंच गया.

- सुरेश शर्मा नगर निवासी संजय शर्मा की बाइक से आते समय मांझा गर्दन और मुंह में फंस गया जिससे संजय का चेहरा कट गया

व्यू कटर भी नहीं अा रहे काम

राहगीरों के चाइयनीज मांझे से बचाने के लिए लाखों रुपए खर्च करके व्यू कटर लगाए गए थे .लेकिन चयनीज मांझे से पतंग उड़ाने के दौरान वह भी फ्लाई पर फंस जाता है और राहगीरों को घायल कर रहा है.राहगीरों का कहना है कि जब तक चायनीज मांझा पर रोक नहीं लगेगी तब तक व्यूकटर भी कुछ नहीं कर पाएंगे. हालांकि चायनीज मांझा रोकने के लिए व्यू कटर काम नहीं आ रहे हैं.