वकीलों के माध्यम से कोर्ट में किया आवेदन

meerut@inext.co.in
MEERUT : पूर्वाचल के डॉन मुन्ना बजरंगी की मौत के बाद जेल में बंद बदमाशों के परिजनों में खौफ छा हुआ है. कई इनामी बदमाशों के परिजनों ने वकीलों के माध्यम से कोर्ट में गुहार लगाई है कि किसी भी कोर्ट में पेशी के दौरान उनकी वीडियोग्राफी कराई जाए. उन्होंने लिखा है कि उन्हें डर है कि दुश्मन पक्ष उनकी हत्या कर सकता है.

हत्या से सकते है बदमाश

सूत्र बताते हैं कि मुन्ना बजंरगी की जेल में हत्या से पूर्वाचल व वेस्ट यूपी की जेलों में बंद बदमाशों में खलबली मची हुई है. अधिकतर बदमाशों ने मंगलवार को जेल में मिलने आए अपने वकीलों से मुन्ना बजरंगी की मौत के बारे में चर्चा की.

लाए जाते हैं पेशी पर

मेरठ के अधिकांश नामी बदमाश पूर्वाचल की जेलों में हैं. पुलिस सूत्र बताते हैं कि वे जेल से ही गैंग चला रहे हैं. उनके खिलाफ मेरठ सहित कई जिलों में मुकदमे दर्ज है. पुलिस उन्हें मुकदमों में तारीख लगाने के लिए हर महीने पेशी के लिए मेरठ लाती है.

जताया खतरा

बदमाशों ने खतरा जताया है कि पूर्वाचल से लाते वक्त पुलिस या विपक्षी पार्टी उन्हें मुठभेड़ में मार सकती है या कोई अन्य बदमाश पेशी में उनकी हत्या कर सकता है. उन्होंने अपने वकील के माध्यम से कोर्ट में अर्जी दी है कि पेशी के वक्त उनकी वीडियोग्राफी कराई जाए और जेल में कैमरे लगाए जाएं. जिससे पेशी पर आते-जाते वक्त उनकी रिकॉर्डिग हो सके.


'अगर किसी मुल्जिम को अपनी विपक्षी से जान का खतरा है कि तो वह कोर्ट से पेशी के वक्त वीडियो ग्राफी की मांग कर सकता है. इसके साथ जेल में आने जाने व सिक्योरिटी के लिए वीडियो ग्राफी करने का कोर्ट में आवेदन कर सकता है.'

- अनिल बख्शी, मेंबर यूपी बार काउंसिल