-सरकारी हॉस्पिटल में बेड फुल होने पर, निजी हॉस्पिटल में मिलगा फ्री बेड और परामर्श

-संडे को भी डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल की खुलेगी ओपीडी, रोगियों को मिलेगा इलाज

<द्गठ्ठद्द>क्चन्क्त्रश्वढ्ढरुरुङ्घ<द्गठ्ठद्दद्गठ्ठस्त्र> :

बुखार के रोगियों को अब डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल में बेड कम पड़ा तो निजी हॉस्पिटल में उनका इलाज होगा. बुखार की रोकथाम के लिए निजी हॉस्पिटल्स और मेडिकल कॉलेजेज ने मदद का हाथ बढ़ाया है. सैटरडे को डीएम वीरेन्द्र कुमार और सीएमओ डॉ. विनीत कुमार शुक्ला ने कलेक्ट्रेट सभागार में एक बैठक निजी हॉस्पिटल के डॉक्टर्स और मेडिकल कॉलेजेज संचालकों के साथ की, जिसमें निजी हॉस्पिटल के डॉक्टर्स ने मदद का भरोसा दिया है. वहीं सैटरडे को भी धौराटांडा में एक महिला की बुखार से मौत हो गई. सीएमओ ने बताया कि संडे को भी ओपीडी खुलेगी. ताकि मरीजों को कोई प्रॉब्लम न हो.

परामर्श और बेड फ्री

बुखार के किसी मरीज को बेड की कमी के चलते यदि प्राइवेट हॉस्पिटल में एडमिट करना पड़ता है, तो उसे परामर्श फीस और बेड का चार्ज नहीं देना पड़ेगा. मरीज को सिर्फ दवा और जांच का पैसा देना होगा. बेड देने के लिए मिशन हाॉस्पिटल, राजश्री हाॉस्पिटल रुहेलखण्ड मेडिकल कॉलेज ने 115 बेड का ऑफर जिला अस्पताल को दिया है. बैठक में एसआरएमएस, सिद्धिविनायक हाॉस्पिटल, मिशन हॉस्पिटल, रुहेलखण्ड मेडिकल कॉलेज, आईएमए के अध्यक्ष, सरन हाॉस्पिटल, गंगाशील हाॉस्पिटल, मेडिसिटी हाॉस्पिटल के डॉक्टर भी मौजूद रहे.

बुखार से युवती की मौत

धौराटांडा कस्बा के वार्ड नम्बर दो निवासी रघुवीर सेठ की बेटी सोनी गुप्ता को रक्षाबंधन पर बुखार आया था. परिजनों ने कस्बा के चिकित्सकों से उपचार कराया, लेकिन जब राहत नहीं मिली. जिसके बाद बरेली के निजी हॉस्पिटल में एडमिट कराया जहां हालत गंभीर होने पर डॉक्टरों ने लखनऊ के लिये रेफर कर दिया. लखनऊ ले जाने के दौरान उसने सैटरडे को रास्ते ही दम तोड़ दिया. अजय गुप्ता ने बताया कि बुखार के दौरान सोनी के पेट मे भी दर्द हुआ था.

खेलते समय बच्चा लापता एक घंटा बाद मिला

महिला हॉस्पिटल में बुखार से एडमिट मरीज को देखने पहुंची महिला का 6 वर्षीय बेटा पि्रंस खेलते समय लापता हो गया. महिला ने जब मासूम को गायब देखा तो उसके होश उड़ गए. महिला ने एक घंटा तक मासूम को तलाश किया, जिसके बाद मासूम महिला हॉस्पिटल की बिल्डिंग के पास खेलता हुआ मिला. जिसके बाद महिला ने राहत की सांस ली.

====