-भारत बंद सिटी में असरदार

-सिटी के गोलघर, सिनेमा रोड, बैंक रोड पर बंद रहीं दुकानें व रेस्टोरेंट

- दर्जनों संगठनों एवं छात्रों ने निकाला जुलूस

GORAKHPUR: एससी-एसटी कानून में संशोधन के खिलाफ सवर्ण समाज के भारत बंद गोरखपुर में असरदार रहा. एक साथ लामबंद होकर सड़क पर उतरे सामाजिक, गैरसरकारी, छात्रों और व्यापारियों के संगठनों ने सरकार से इसे वापस लेने की मांग की. इस दौरान गोलघर, पार्क रोड, सिनेमा रोड, बैंक रोड जैसे प्रमुख बाजारों में दुकानें, मॉल, रेस्टोरेंट एवं पेट्रोल पंप बंद रहे. बंदी को लेकर सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम ि1कए गए थे.

सुबह 11 बजे िनकला जुलूस

अनुसूचित जाति-जनजाति कानून में हुए बदलाव से प्रभावित हो रहे सवर्ण समाज के लोगों ने गुरुवार को एक साथ भारत बंद का आह्वान किया था. नागरिक मोर्चा, सवर्ण एकता परिषद, अखिल भारतीय स्वराज पार्टी, सवर्ण उत्थान समिति, ब्राह्मण स्वाभिमान मंच, पूर्वाचल ठेकेदार समिति, कपड़ा व्यवसायी संघ और सूर्यवंशी सेवा संस्थान समेत दर्जन भर संगठनों ने जुलूस निकालकर दुकानें बंद कराई. अलग-अलग जगहों से संगठन के पदाधिकारी और सदस्य सुबह 11 बजे जुलूस लेकर गोलघर में इकट्ठा हुए और सरकार विरोधी नारे लगाए. नाराज लोगों का हुजूम सड़कों पर देश दुकानदारों ने दुकानें बंद करने में ही अपनी भलाई समझी. सेंट एंड्रयूज कॉलेज के छात्रों ने भी सड़क पर उतरकर एससी-एसटी कानून का विरोध किया. सबसे पहले गोलघर बंद हुआ और इसके बाद सिनेमा रोड, बैंक रोड, सुमेर सागर, टाउनहाल आदि में सभी दुकानें दोपहर तक बंद रहीं. यहां तक की चाय-पान की दुकानें भी बंद रहीं. कचहरी में भी बंद का असर दिखा. टाउन हाल के पास चाट का ठेला देश प्रदर्शन कर रहे लोग नाराज हो गए. इससे पहले कि लोग ठेले को नुकसान पहुंचाते, पुलिस ने हालात को काबू में कर लिया. बंद समर्थक ने सरकार पर जातिवादी राजनीति को बढ़ावा देने और सवर्णो के हितों के साथ खिलवाड़ करने का आरोप लगाया.

सोशल मीडिया पर भी मिला बंद को समर्थन

वाट्सअप और फेसबुक का इस्तेमाल भी बंद के समर्थन में खूब किया गया. अलग-अलग ग्रुपों में संदेश प्रसारित कर बंद के लिए समर्थन जुटाने और सवर्णो को एकजुट करने की कोशिश पिछले एक सप्ताह से की जा रही थी. इसका असर भी देखने को मिला. विरोध की फोटो बहुत सारे गु्रपों में डाली गई.

सुरक्षा के थे पुख्ता इंतजाम

बंद को लेकर पुलिस भी काफी सक्रिय दिखी. गोलघर, सिनेमा रोड, बैंक रोड, अली नगर, रेती, गीता प्रेस रोड, घंटाघर समेत प्रमुख बाजारों में सुरक्षा कर्मियों को तैनात किया गया था. अफसर भी लगातार गश्त कर बंद कराने वालों पर नजर रखे हुए थे.

ये लोग रहे मौजूद

जुलूस में नागरिक मोर्चा के अध्यक्ष राजन शाही, वकील सिंह, प्रमोद सिंह, कृष्ण कुमार, लल्लन दूबे, रघुनंदन उपाध्याय, सचिन सिंह, अनिल सिंह, अर्जुन सिंह, विजय श्रीवास्तव, अखिलेश यादव, राघवेंद्र मिश्रा, चंद्रशेखर शर्मा, अंकित मिश्रा, अरुण शाही, प्रवीण तिवारी, प्रदीप सिंह मंझरिया, मनीष सिंह, उमाशंकर दुबे, अजीत मिश्रा, सौरभ शुक्ला, सत्यप्रकाश शुक्ला, गिरीश शुक्ला, संतोष उपाध्याय, चुनमुन पांडेय, अमित मिश्रा, राजेश श्रीवास्तव, शिव कुमार दूबे, महेंद्र मणि त्रिपाठी, वेद प्रकाश मिश्रा, अभिनंदन मिश्र आदि मौजूद थे.