- हरिहर प्रसाद दुबे मार्ग पर वॉटर लॉगिंग की शिकायत

- पब्लिक के जुटने पर बैक फुट पर आए निगम अधिकारी

GORAKHPUR: शहर में वॉटर लॉगिंग से निजात दिलाने के लिए अतिक्रमण हटाने निकली नगर निगम की टीम मुश्किल में पड़ जा रही है. गुरुवार को बेतियाहाता, हरिहर प्रसाद दुबे मार्ग पर नाले का अतिक्रमण हटाने गई टीम को पब्लिक ने घेर लिया. जमकर नोंकझोंक होने की सूचना पर पुलिस पहुंची. मेयर, नगर आयुक्त, सिटी मजिस्ट्रेट सहित भारी अमला मौके पर पहुंच गया. दोनों पक्षों की बात सुनकर मेयर ने क्रॉस और नाले से सिल्ट निकालने को कहा. कुछ देर बाद वहां से टीम लौट गई.

वॉटर लागिंग से पब्लिक को होती प्रॉब्लम

मामूली बारिश में हरिहर प्रसाद दुबे मार्ग पर वॉटर लॉगिंग हो जाती है. शिकायत सामने आने पर डीएम ने नगर निगम के अधिकारियों संग मौके का निरीक्षण किया था. नाले पर अतिक्रमण मिलने से डीएम ने कार्रवाई का आदेश दिया. गुरुवार दोपहर चीफ इंजीनियर सुरेश चंद की अगुवाई में जेसीबी लेकर टीम पहुंची. टीम ने अतिक्रमण हटाने का प्रयास किया. तभी लोग सामने आकर विरोध करने लगे.

स्लैब तोड़ने का विरोध, किया हंगामा

नाले का स्लैब तोड़ने पर पार्षद विश्वजीत त्रिपाठी सहित कई लोग आ गए. लोगों ने कहा कि स्लैब तोड़ने से आवागमन में असुविधा होगी. इसलिए नाले पर बने स्लैब को तोड़ा जाना चाहिए. लोगों के हंगामा करने पर नगर निगम ने काम ठप कर दिया. परेशान हाल चीफ इंजीनियर ने मामले की जानकारी डीएम और नगर आयुक्त को दी. बवाल बढ़ने की आशंका में मेयर सहित अन्य लोग पहुंच गए. पब्लिक ने आरोप लगाया कि चौराहे और मोड़ पर जहां समस्या बनी हुई है, वहां पर कोई सफाई नहीं होती. बल्कि कुछ लोगों को टारगेट करके उनके दरवाजे पर लगा स्लैब तोड़ा जाता है. पब्लिक की समस्या को देखते हुए नाले की सफाई का फैसला लिया गया.

वर्जन

डीएम ने अतिक्रमण हटाने का निर्देश दिया था. अतिक्रमण से ही वॉटर लॉगिंग हो जाती है. बुधवार को भी अतिक्रमण हटाने की सूचना दी गई थी. बावजूद इसके कुछ लोगों ने विरोध शुरू कर दिया. इस प्रकरण की पूरी जानकारी डीएम को दी गई है.

- प्रेम प्रकाश सिंह, नगर आयुक्त