DEHRADUN: भारतीय मजदूर संघ से संबद्ध आशा स्वास्थ्य कार्यकत्री संगठन ने मंडे को अपनी मांगों को लेकर परेड ग्राउंड में धरना दिया. बाद में आशा वर्कर्स ने सचिवालय कूच किया. सचिवालय में सचिव स्वास्थ्य चिकित्सा एवं परिवार कल्याण को अपनी मांगों का ज्ञापन दिया.

यह हैं मांगें

- आशा वर्कर्स को हर साल 5 हजार रुपये और हर महीने 2 हजार रुपये प्रोत्साहन राशि एकमुश्त दी जाए.

- सभी आशा वर्कर्स और आशा फैसिलिटेटर को 1800 रुपये प्रतिमाह मानदेय दिया जाए.

- आशा वर्कर्स को राज्य कर्मचारी घोषित किया जाए.

- आशा वर्कर्स को पीएफ और ईएसआई की सुविधा दी जाए.

- काम के दौरान दुर्घटना होने पर 1 लाख रुपये और मृत्यु होने पर आश्रितों को 5 लाख रुपये मुआवजा दिया जाए.

- महंगाई का ध्यान में रखते हुए आशा वर्कर्स को केन्द्र और राज्य से मिलने वाली प्रोत्साहन राशि बढ़ाई जाए.

ये थे मौजूद

धरना-प्रदर्शन और सचिवालय कूच में बीएमएस के प्रदेश मंत्री संजीव विश्नोई, जिला संगठन मंत्री पंकज शर्मा, उज्ज्वल त्यागी, चन्द्र मोहन बिजल्वाण, रामचंद्र खंडूड़ी, गोविन्द सिंह बिष्ट, दिनेश पांडे, आरती थापा, रजनी शर्मा, मधु सिंह, गंगा गुप्ता, माया, सविता, विजय लक्ष्मी भंडारी, ममतेश, तनुजा, रोशनी आदि मौजूद थे.