- ननूरखेड़ा स्थित शिक्षा निदेशालय पर धरनास्थल जाकर शिक्षा मंत्री ने दिया आश्वासन, दोबारा नहीं करना होगा डीएलएड-ब्रिज कोर्स

DEHRADUN: शिक्षा मंत्री के आश्वासन के बाद विशिष्ट बीटीसी शिक्षकों ने अपना विधानसभा कूच स्थगित कर दिया है. मंगलवार को शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ननूरखेड़ा स्थित शिक्षा निदेशालय पर धरना दे रहे शिक्षकों के बीच पहुंचे. उन्होंने आश्वस्त किया कि किसी भी शिक्षक को डीएलएड-ब्रिज कोर्स दोबारा नहीं करना पड़ेगा. आपको बता दें कि शिक्षकों ने सात दिसंबर को भराड़ीसैंण में विधानसभा भवन के घेराव व सामूहिक गिरफ्तारी का ऐलान किया था.

अधिकारी न करें परेशान

उलराखंड राज्य प्राथमिक संघ के बैनर तले गत 22 नवंबर से 10 दिनों तक शिक्षा निदेशालय पर जनपदवार धरना-प्रदर्शन कर रहे थे. मंगलवार को चंपावत व पिथौरागढ़ के शिक्षकों ने धरना दिया. इस बीच शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे आंदोलनरत शिक्षकों के बीच पहुंचे. प्रांतीय अध्यक्ष निर्मला महर व महामंत्री दिग्विजय चौहान ने उन्हें बताया कि राज्य में प्रारंभिक शिक्षा में कार्यरत बीएड, सीपीएड, डीपीएड, बीपीएड, मृतक आश्रित, उर्दू योग्यताधारी शिक्षक समय-समय पर विभागीय निर्देशों के क्रम में विशिष्ट बीटीसी प्रशिक्षण उलीर्ण करने के बाद विद्यालयों में नियुक्त किए गए थे. लेकिन, करीब डेढ़ दशक बाद अब जिला शिक्षा प्रशिक्षण संस्थानों को एनसीटीई की मान्यता न होने की वजह से इन्हें ब्रिज कोर्स के लिए बाध्य किया जा रहा है. शिक्षा मंत्री ने आश्वस्त किया कि किसी भी शिक्षक को ब्रिज कोर्स नहीं करना पड़ेगा. विशिष्ट बीटीसी प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके शिक्षकों के प्रशिक्षण को वैध कराने की जिम्मेदारी वह खुद पर लेते हैं. किसी भी शिक्षक की नौकरी पर आंच नहीं आने दी जाएगी. शिक्षा मंत्री ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि इस प्रकरण में ऐसा कोई पत्र जारी न किया जाए जिससे शिक्षक आहत हों. शिक्षा मंत्री से मिले आश्वासन पर शिक्षकों ने विधानसभा घेराव का कार्यक्रम स्थगित कर दिया.