धरने पर बैठे स्टूडेंट्स ने विवि परिसर में पोस्टर किए चस्पा

-नवीन सत्र में चल रहे कोर्स में प्रवेश नहीं लेने की प्रार्थना

आगरा. विश्वविद्यालय में धरने पर बैठे बीएड स्टूडेंट्स ने मंगलवार को अपने ही तरीके का जागरूक अभियान चलाया. इसके अंतर्गत परिसर में पोस्टर चस्पा कर दूसरे स्टूडेंट्स को इस विश्वविद्यालय में एडमिशन नहीं लेने की सलाह दी. डॉ.भीमराव आम्बेडकर विश्वविद्यालय में पिछले 22 दिन से डिग्री की मांग को लेकर बीएड स्टूडेंट्स धरना प्रदर्शन कर रहे हैं.

इस यूनिवर्सिटी में नहीं करें भविष्य खराब

विश्वविद्यालय परिसर में धरना प्रदर्शन कर रहे स्टूडेंट्स का कहना है कि इस यूनिवर्सिटी में प्रवेश लेने के बाद हमारा भविष्य अंधकार में है. पास आउट स्टूडेंट्स को विवि अधिकारी डिग्री, मा‌र्क्सशीट मुहैया कराने में अक्षम हैं. उन्होंने कहा कि यहां प्रवेश लेकर दूसरे स्टूडेंट्स के भी भविष्य पर संकट के बादल मंडरा सकते हैं, इसलिए वह नवीन सत्र में प्रवेश लेने वाले स्टूडेंट्स का आगाह करने का कार्य कर रहे हैं. धरने पर बैठे स्टूडेंट्स ने विवि प्रशासन को भ्रष्टाचार में लिप्त बताते हुए गंभीर आरोप भी लगाए.

धरनास्थल पर विवि ने लड़ा ताला

सर्द हवा में धरने पर बैठे स्टूडेंट्स रात होने पर विवि के जुबली हॉल में सोते हैं, जहां विवि प्रशासन ने मंगलवार को ताला जड़ दिया. इस पर स्टूडेंट्स को देर-शाम सर्दी में ठिठुरते देखा गया. स्टूडेंट्स का कहना है कि विवि प्रशासन लगातार उन्हें धरने से उठाने के लिए दबाव बना रहा है. उनका कहना है कि अगर उन्हें समय से डिग्री, मा‌र्क्सशीट नहीं मिली तो सहायक अध्यापक की नौकरी से हाथ धोना पड़ सकता है.