- टीटीजेड में 24 घंटे तो देहात में 18 घंटे आपूर्ति का दावा

- धुंआंधार रोस्टिंग से परेशान बसपा पूर्व विधायक ने बुलाई महापंचायत

आगरा. पिछले कई दिनों से शहर से लेकर देहात तक बिजली कटौती ने लोगों को हलकान कर दिया है. पिछले एक महीने से बिजली कटौती से परेशान बसपा के पूर्व विधायक ठा. सूरजपाल सिंह ने रुनकता में महापंचायत बुलाकर आन्दोलन का ऐलान कर दिया.

दावा 24 घंटे का मिल रही पांच घंटे

दक्षिणांचल का दावा है कि बिजली टीटीजेड एरिया में 24 घंटे बिजली की आपूर्ति की जा रही है, लेकिन शहर से लेकर पांच से आठ घंटे ही बिजली मिल पा रही है. इस बारे में पूर्व बसपा विधायक ठा. सूरजपाल सिंह ने बताया कि पहले हमारा रुनकता फीडर सिकंदरा से लिंक था, तो आपूर्ति ठीक से होती थी. इसके बाद बिचपुरी से जोड़ दिया. उन्होंने बताया कि पनवारी की बिजली आपूर्ति लगातार चलती चलती रहती है. पूर्व विधायक ने बताया कि हमें समस्या निस्तारण का भरोसा दिलाया है. इसका समाधान नहीं हुआ तो आन्दोलन किया जाएगा.

उत्पादन घटा मांग बढ़ी

जिले को बिजली आपूर्ति पावर ग्रिड और पीलीपोखर के अलावा मोदीपुर्म पावर कंट्रोल से किया जाता है. इस समय जिले की डिमांड 1900 मेगावाट की है, लेकिन मौजूदा समय में मात्र 1675 मेगावाट की बिजली आपूर्ति हो रही है. इसके चलते शहर देहात में कटौती की जा रही है. ग्वालियर रोड स्थित बाद फीडर पर ही धुंआधार रोस्टिंग की जा रही है. इसके चलते कई सेवाएं प्रभावित हो रहीं हैं.

आगरा को यहां से मिलती है इतनी बिजली

आगरा को प्रदेश में कई स्थानों से बिजली की आपूर्ति की जाती है. इसमें ललितपुर, औरेया, आगरा-उन्नाव लाइन, एनटीपीसी, शमशाबाद रोड स्थित पावर ग्रिड और फतेहाबाद स्थित 765 केवी पावर ग्रिड शामिल है.