- जिले के सभी पेट्रोल पंपों पर शौचालय होंगे सार्वजनिक

- नगर निगम ने सभी पेट्रोल पंपों को भेजा नोटिफिकेशन

- सफाई न रखने पर 25 हजार से 1 लाख तक का जुर्माना

Meerut . भारत सरकार ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत जिले के पेट्रोल पंप में बने शौचालयों को सार्वजनिक करने का निर्णय लिया है. इसको अमल में लाने के लिए नगर निगम ने सभी पेट्रोल पंप को नोटिफिकेशन जारी कर पंप पर बने शौचालयों को सार्वजनिक करने के निर्देश दिए हैं.

नगर निगम लगाएगा बोर्ड

पेट्रोल पंपों पर बने शौचालयों को सार्वजनिक करने के लिए नगर निगम वहां पर बोर्ड लगाएगा. जिससे लोग अब खुले में शौच न करें. वह पेट्रोल पंप पर जाकर शौच कर सकते हैं.

स्वच्छता रखें नहीं तो जुर्माना

इसके साथ ही नगर निगम ने पेट्रोल पंप मालिकों को निर्देश दिए है कि शौचालयों को स्वच्छ रखना होगा. यदि शौचालयों को स्वच्छ नही रखेंगे तो 25 हजार से लेकर 1 लाख रुपये तक जुर्माना लगाया जाएगा.

नगर निगम करेगा निरीक्षण

शौचालयों को स्वच्छ रखने के लिए नगर निगम के अधिकारियों के द्वारा पेट्रोल पंप के शौचालयों का निरीक्षण किया जाएगा. यदि निरीक्षण में गंदगी पाई जाती है तो उस पर जुर्माने का कार्रवाई निगम द्वारा की जाएगी.

कुछ पेट्रोल पंप पर नहीं शौचालय

जिले में अधिकांश पेट्रोल पंप पर शौचालय तो है. लेकिन कुछ पेट्रोल पंप पर शौचालय है ही नहीं. वह पेट्रोल इतनी छोटी जगहों पर बने हुए वहां पर दो मशीनें है वह ही गनीमत है.

भारत सरकार का निर्णय तो ठीक है. लेकिन इसका रखरखाव कौन करेगा. रखरखाव के लिए निगम पैसा दे तो कोई परेशानी नहीं है. पेट्रोल पंप पर तो ग्राहकों के लिए तो यह सुविधा है ही. हर प्रकार का इंसान यहां पर आएगा.

-रूपेंद्र सिंह, पंजाब ऑयल कंपनी

सार्वजनिक शौचालय तो अब भी है. हम तो किसी को रोकते तक नहीं है. हमारे यहां तो आसपास की फैक्ट्री के लोग आते हैं. सरकार का यह अच्छा निर्णय है. स्वच्छ भारत अभियान में सभी को सहयोग करना चाहिए.

-मनोज पाल, किसान सर्विस स्टेशन

शौचालय तो पहले ही पब्लिक के लिए है. जो भी कस्टमर आता है वह शौचालय को यूज करता है. मोदी जी स्वच्छ भारत अभियान के तहत बहुत अच्छा कर रहे हैं. इस अभियान को और बड़े स्केल पर करना चाहिए.

-चांद कपूर, भगवान एंड कंपनी

मोदी सरकार ने यह बहुत अच्छा निर्णय लिया है. स्वच्छ भारत अभियान में सभी को सहयोग करना चाहिए. बिना पब्लिक के सहयोग के यह अभियान पूरा नहीं होगा. सही किया शौचालयों को सार्वजनिक करके.

-आशीष, बसंत लाल बैनी प्रसाद