डकैती डालने वाले बदमाशों ने ही किया पुलिस कंट्रोल रूम को फोन

भीड़ से बचने के लिए हवा में चलाई थी ताबड़तोड़ गोलियां

Meerut. जल्दी आइए..वर्ना भीड़ बदमाशों को मार डालेगी. मॉब लिंचिंग न हो जाए, इसलिए पुलिस ने बदमाशों को भीड़ के चंगुल से निकाला. ये दीगर है कि इसी का फायदा उठाकर तीन बदमाश मौके से फरार हो गए. दरअसल, लिसाड़ी गेट की ताज कालोनी में मंगलवार को जूता व्यापारी के घर डकैती डालने के बाद जब बदमाश पब्लिक से घिर गए तो उन्हें अपनी मौत नजर आने लगी थी. ऐसे में बदमाशों ने खुद फोन कर पुलिस को मौके पर बुलाया.

जान से मार देती भीड़

गौरतलब है कि मंगलवार को ताज कालोनी निवासी जूता कारोबारी शाहनवाज के घर सभी छह बदमाश जब डकैती की वारदात को अंजाम देकर भागे तो भीड़ ने उनका पीछा करना शुरू कर दिया. एक बदमाश को कारोबारी के घर के पास ही पकड़ लिया. उसके हाथ पैर बांधकर खूब पीटा गया. बाकी बदमाशों को लगा कि वह पकड़े गए बदमाश को मार देंगे. इसलिए उन्होंने फाय¨रग कर दी और फतेहउल्लापुर में सगीर के घर में घुस गए. यहां बदमाशों ने भीड़ को उग्र देख पुलिस कंट्रोल रूम को फोन किया. जिसके बाद पुलिस को देखकर बदमाशों ने हथियार फेंक दिए और सरेंडर कर दिया. हालांकि इसी आपाधापी में आरोपी बदमाश मोनू, नदीम और एक अन्य फरार हो गया था.

बदमाशों ने पुलिस को फोन करके सूचना दी थी कि जल्दी आ जाएं. उन्हें डर था कि कहीं भीड़ उन्हें पीट-पीटकर न मार दे. पुलिस मौके पर पहुंची और बदमाशों की जान बचाकर थाने पर लेकर आई.

अखिलेश कुमार, एसएसपी, मेरठ