-कचरे की तरह लोगों के पैरों तले कुचली जा रही थी पीएम-सीएम की फोटो लगी प्रचार सामग्री

akhil.dixit@inext.co.in
PRAYAGRAJ: प्लान था कि इन प्रचार सामग्रियों को अधिक से अधिक लोगों के हाथों तक पहुंचाया जाएगा. इनमें खासतौर पर पीएम और सीएम की फोटो लगाई गई थी. इसके अलावा इस पर कुंभ से जुड़ी सूचनाएं भी थीं. यह ब्रोशर सरकार ने पर्यटन विभाग के माध्यम से पब्लिश कराई थी. प्रचार सामग्री बांटने का जिम्मा विभिन्न विभागों का था. लेकिन लोगों के हाथों में पहुंचने के बाद यह ब्रोशर पैरों तले कुचला जाता रहा.

ब्रोशर पर यह था.

-मुख्य पृष्ठ पर पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ की फोटो.

-कुंभ लेआउट प्लान के अलावा प्रमुख स्नानों की तिथियां.

-महत्वपूर्ण पूछताछ नंबर और सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के संपर्क सूत्र.

पैरों तले पड़े ब्रोशर
मीडिया सेंटर के बाहर सड़क पर पड़े इन ब्रोशर बड़ी संख्या में गुजर रहे श्रद्धालुओं के पैरों तले पड़ रहे थे. वहीं बसंत पंचमी स्नान के लिए सड़क से गुजर रहे श्रद्धालुओं ने ब्रोशर के लिए लूट मचा दी. एकाएक बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं के जमावड़े से सिचुएशन आउट ऑफ कंट्रोल हो गई. यहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने श्रद्धालुओं को आगे बढ़ाकर जैसे-तैसे हालात पर काबू पाया. सड़क पर बिखरे पड़े ब्रोशर प्रशासिनक लापरवाही को उजागर कर रहे हैं तो वहीं स्पष्ट हो रहा है कि कुंभ की ब्रांडिंग को लेकर सरकार ने प्रचार सामग्री में अनाप-शनाप खर्च किया है. सूचना विभाग इस प्रचार सामग्री को पूरे मेलेभर जमा करके रखे रहा और खपती न देख उसे सड़क पर फेंक दिया.

श्रद्धालुओं के बीच इस सामग्री को बांटा जाना था. प्रचार-सामग्री को श्रद्धालुओं के बीच बांटा गया है, यदि लोग सड़क पर फेंक दे रहे हैं तो इसमें हम क्या कर सकते हैं? सफाईकर्मी को लगाकर प्रचार सामग्री को हटवा दिया जाएगा.

-संजय राय, उप निदेशक सूचना, प्रयागराज