ranchi@inext.co.in
RANCHI: पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद हेड कांस्टेबल विजय सोरेंग का पार्थिव शरीर शनिवार को शाम 4.10 बजे रांची के बिरसा मुंडा एयरपोर्ट लाया गया. एयरपोर्ट पर केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा, राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू, मुख्यमंत्री रघुवर दास समेत कैबिनेट के मंत्री, भारतीय सेना के जवान, सीआरपीएफ के अधिकारी समेत शहीद की पत्नी समेत परिजन मुख्य रूप से मौजूद थे. सभी ने शहीद विजय सोरेंग के पार्थिव शरीर को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की. भारतीय सेना और सीआरपीएफ की तरफ से शहीद को अंतिम सलामी भी दी गई. केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा और मुख्यमंत्री रघुवर दास ने पार्थिव शरीर को कंधा दिया. इससे पहले पटना से सीआरपीएफ के हेलीकॉप्टर से शहीद के शव को रांची लाया गया.

राज्य कैबिनेट एक माह का देगा पेमेंट
मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलवामा में शहीद हुए जवानों के परिजनों के साथ पूरा देश दृढ़ता के साथ खड़ा है. मैं और मेरे मंत्रिमंडल के सहयोगी एक माह का वेतन शहीद के परिजनों को देंगे.

हेलीकॉप्टर से भेजा गया शहीद का शव
शहीद विजय सोरेंग का पार्थिव शरीर गुमला स्थित उनके पैतृक गांव शाम 4.35 बजे हेलीकॉप्टर से भेजा गया. इसमें उनकी पत्नी, सीआरपीएफ के अधिकारी समेत अन्य शामिल थे. गुमला में सुबह से ही फरसांवा गांव में अंतिम विदाई देने की तैयारी चल रही है. बसिया थाना क्षेत्र के फरसांवा में ग्रामीण काफी देर तक उपस्थित रहे. शहीद के शव को लेकर गांव वाले बेसब्री से इंतजार करते देखे गए. यहां भी सीआरपीएफ की तरफ से व्यापक इंतजाम किये गये थे.