अनुज अलंकार (मुंबई)। 2014 में अक्षय कुमार की फिल्म 'हॉली डे' में मेन विलेन की भूमिका से बॉलीवुड में कदम रखने वाले फ्रेडी दारूवाला अब सलमान खान की फिल्म 'रेस 3' में नजर आएंगे। मॉडलिंग के जरिये फिल्मों में आए फ्रेडी दारूवाला से 'रेस 3' के अनुभवों को लेकर बातचीत : 

'रेस 3' में काम करने का मौका कैसे मिला? 
दीपावली का मौका था और मैं अपने घर (सूरत, गुजरात) में था, तब मुझे टिप्स के दफ्तर से फोन आया कि रमेश तौरानी ('रेस 3' के निर्माता) मिलना चाहते हैं। रमेश जी को मैं काफी समय से जानता हूं। मैं लौटा, तो उन्होंने ही पहली बार इस कैरेक्टर के बारे में बताया। बाद में रेमो डिसूजा (निर्देशक) और फिर सलमान सर से मुलाकात हुई। 

इस रोल के लिए चुनौती क्या लगी आपको?
इतनी बड़ी फिल्म, इतनी बड़ी स्टारकास्ट के साथ फिल्म का हिस्सा होना भी किसी चुनौती से कम नहीं होता। मेरे लिए चैलेंज यह था कि इतने दिग्गजों के बीच मैं अपना काम ठीक से कर पाऊंगा या नहीं। शुक्र है कि मैं अपने मकसद में कामयाब रहा। इसका क्रेडिट हमारी टीम को जाता है, जो लगातार मदद करती रही। 

किरदार क्या है आपका 'रेस 3' में?
थ्रिलर फिल्म है, इसलिए बहुत ज्यादा नहीं बता पाऊंगा। बहुत महत्वाकांक्षी इंसान का कैरेक्टर है, जिसके लिए मैं कह सकता हूं कि उसे पंगे लेने की बुरी आदत है। यही आदत उसकी जिंदगी बदल देती है। 

सलमान खान के साथ काम करने का पहला अनुभव कैसा रहा? 
शब्दों में बयां नहीं कर सकता। सूरत में जब पढ़ाई करता था, तो उनकी फिल्में देखने जाया करता था। मुंबई आकर मॉडलिंग शुरू की, तो उम्मीद थी कि कभी मुलाकात हो जाए। जब पहली फिल्म 'हॉली डे' में काम किया, तब से मन में उम्मीद होने लगी थी कि एक बार उनके साथ फिल्म में काम करने का मौका मिल जाए। बहुत खुशनसीब हूं कि ये मौका मिला।
 
शूटिंग के दौरान उनके साथ कैसा अनुभव रहा?
नायाब इंसान हैं। हर किसी की मदद करते हैं। शॉट को बेस्ट बनाने के लिए वे कभी पीछे नहीं हटते। हमारा एक फाइट सीन था। दोपहर का वक्त था। वे दो घंटे तक लगातार रिहर्सल करते रहे और मैं मंत्रमुग्ध उनको देखता रह गया। यही मेहनत उन्हें स्टार बनाती है। इतना कुछ सीखने के लिए मिला कि बता नहीं सकता। 

'हॉली डे' से अब तक आप विलेन के ही रोल कर रहे हैं। इसकी कोई वजह होगी? 
मैं कलाकार हूं और हर तरह का रोल करना चाहता हूं। न्यूकमर हूं। करियर नया है। मुझे अगर विलेन का पावरफुल रोल मिलता है, तो उसे खारिज करना भी मेरी मूर्खता होगी और पहली फिल्म 'हाली डे' से यह तो अनुभव हुआ कि दर्शक विलेन के रोल को भी पसंद करते हैं। 

फिल्मों में हीरो बनने की हसरत तो जरूर होगी?
जैसा कि मैंने कहा कि कलाकार की हसरत हर रोल करने की होती है। अभी तो मेरी शुरुआत है। एक बार पैर जम जाएंगे, तो ये मौका भी मिल जाएगा, लेकिन विलेन के रोल ही मिलते रहें, तो भी मैं इसमें बहुत खुश रहूंगा। 

अनुज अलंकार (मुंबई)। 2014 में अक्षय कुमार की फिल्म 'हॉली डे' में मेन विलेन की भूमिका से बॉलीवुड में कदम रखने वाले फ्रेडी दारूवाला अब सलमान खान की फिल्म 'रेस 3' में नजर आएंगे। मॉडलिंग के जरिये फिल्मों में आए फ्रेडी दारूवाला से 'रेस 3' के अनुभवों को लेकर बातचीत : 

'रेस 3' में काम करने का मौका कैसे मिला? 

दीपावली का मौका था और मैं अपने घर (सूरत, गुजरात) में था, तब मुझे टिप्स के दफ्तर से फोन आया कि रमेश तौरानी ('रेस 3' के निर्माता) मिलना चाहते हैं। रमेश जी को मैं काफी समय से जानता हूं। मैं लौटा, तो उन्होंने ही पहली बार इस कैरेक्टर के बारे में बताया। बाद में रेमो डिसूजा (निर्देशक) और फिर सलमान सर से मुलाकात हुई। 

इस रोल के लिए चुनौती क्या लगी आपको?

इतनी बड़ी फिल्म, इतनी बड़ी स्टारकास्ट के साथ फिल्म का हिस्सा होना भी किसी चुनौती से कम नहीं होता। मेरे लिए चैलेंज यह था कि इतने दिग्गजों के बीच मैं अपना काम ठीक से कर पाऊंगा या नहीं। शुक्र है कि मैं अपने मकसद में कामयाब रहा। इसका क्रेडिट हमारी टीम को जाता है, जो लगातार मदद करती रही। 

किरदार क्या है आपका 'रेस 3' में?

थ्रिलर फिल्म है, इसलिए बहुत ज्यादा नहीं बता पाऊंगा। बहुत महत्वाकांक्षी इंसान का कैरेक्टर है, जिसके लिए मैं कह सकता हूं कि उसे पंगे लेने की बुरी आदत है। यही आदत उसकी जिंदगी बदल देती है। 

सलमान खान के साथ काम करने का पहला अनुभव कैसा रहा? 

मिलिए रेस—3 के विलेन से,जो दे रहे हैं सलमान को टक्कर

शब्दों में बयां नहीं कर सकता। सूरत में जब पढ़ाई करता था, तो उनकी फिल्में देखने जाया करता था। मुंबई आकर मॉडलिंग शुरू की, तो उम्मीद थी कि कभी मुलाकात हो जाए। जब पहली फिल्म 'हॉली डे' में काम किया, तब से मन में उम्मीद होने लगी थी कि एक बार उनके साथ फिल्म में काम करने का मौका मिल जाए। बहुत खुशनसीब हूं कि ये मौका मिला।

शूटिंग के दौरान उनके साथ कैसा अनुभव रहा?

नायाब इंसान हैं। हर किसी की मदद करते हैं। शॉट को बेस्ट बनाने के लिए वे कभी पीछे नहीं हटते। हमारा एक फाइट सीन था। दोपहर का वक्त था। वे दो घंटे तक लगातार रिहर्सल करते रहे और मैं मंत्रमुग्ध उनको देखता रह गया। यही मेहनत उन्हें स्टार बनाती है। इतना कुछ सीखने के लिए मिला कि बता नहीं सकता। 

'हॉली डे' से अब तक आप विलेन के ही रोल कर रहे हैं। इसकी कोई वजह होगी? 

मिलिए रेस—3 के विलेन से,जो दे रहे हैं सलमान को टक्कर

मैं कलाकार हूं और हर तरह का रोल करना चाहता हूं। न्यूकमर हूं। करियर नया है। मुझे अगर विलेन का पावरफुल रोल मिलता है, तो उसे खारिज करना भी मेरी मूर्खता होगी और पहली फिल्म 'हाली डे' से यह तो अनुभव हुआ कि दर्शक विलेन के रोल को भी पसंद करते हैं। 

फिल्मों में हीरो बनने की हसरत तो जरूर होगी?

जैसा कि मैंने कहा कि कलाकार की हसरत हर रोल करने की होती है। अभी तो मेरी शुरुआत है। एक बार पैर जम जाएंगे, तो ये मौका भी मिल जाएगा, लेकिन विलेन के रोल ही मिलते रहें, तो भी मैं इसमें बहुत खुश रहूंगा। 

 'रेस 3' एक्ट्रेस जैकलीन को हिंदी फिल्मों से इसलिए हुआ था प्यार, वजह बने थे भंसाली

'रेस 3' के बाद फिर सलमान के साथ दिखेगी जैक्लिन की केमिस्ट्री

Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk