-शासन ने तलब की रैगिंग की रिपोर्ट, पूछा कि क्या की गई कार्रवाई

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: एमएलएन मेडिकल कॉलेज में रैगिंग का मामला शासन तक पहुंच चुका है. शुक्रवार को सीएम कार्यालय की ओर से मामले में अब तक की गई कार्रवाई का ब्यौरा मांगा गया. स्वयं चिकित्सा शिक्षा मंत्री गोपालजी टंडन की ओर से टेलीफोन पर प्रिंसिपल प्रो एसपी सिंह से पूरी रिपोर्ट तलब की गई. इसके अलावा चिकित्सा शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव की ओर से भी मामले की पूछताछ की गई. इस संबंध में डायरेक्टर जनरल की ओर से टेलीफोन पर प्रिंसिपल से वार्ता की गई. इसके बाद मेडिकल प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद हो गया.

एक-एक छात्र से लिखित में मांगा जवाब

शुक्रवार को शासन से रिपोर्ट मांगे जाने के बाद माता के निधन के बाद अवकाश पर चले प्रिंसिपल प्रो. एसपी सिंह ने स्वयं क्लास रूम पहुंचकर एमबीबीएस प्रथम वर्ष के छात्रों से पूछताछ की. उन्होंने पूछा कि रैगिंग हुई है या नही. इस मामले में प्रत्येक छात्र से उनकी हैंड राइटिंग में लिखित में जवाब मांगा गया. बताया गया कि एक भी छात्र-छात्रा ने अपने साथ रैगिंग की बात स्वीकार नही की है.

छात्रों की निगरानी करेंगे कमांडो

फ्रेशर्स को सीनियर्स के प्रकोप से बचाने के लिए मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने एंटी रैगिंग कमांडो तैनात किए हैं. इनका काम छात्रों को हास्टल से क्लास रूम तक ले जाने और फिर वापस छोड़ने का है. इनकी निगरानी में सभी को रखा जाएगा. यहां तक कि हास्टल में रहने के दौरान फ्रेशर्स पर भी एंटी रैगिंग कमांडों यानी टीचर्स की नजर रहेगी. टीचर्स और फैकल्टी को कमांडो नियुक्त किया गया है. इसके बाद देर शाम तक कार्यवाहक प्रिंसिपल प्रो. वत्सला मिश्रा के नेत़त्व में मीटिंग्स का दौर चलता रहा.