-रेलवे ने जनरल टिकट के लिए जारी किया मोबाइल एप

varanasi@inext.co.in

VARANASI

रेलवे पैसेंजर्स की सुविधा के लिए नित नये सिस्टम अपना रहा है. इसी क्रम में क्रिस ने एक मोबाइल आधारित ऐप यूटीएस ऑन मोबाइल तैयार किया है. यह एप्लिकेशन एंड्रॉइड और विंडोज स्मार्टफोन दोनों के लिए उपलब्ध है. उपयोगकर्ता इस एप को गूगल प्ले स्टोर या विंडोज स्टोर से नि:शुल्क डाउनलोड कर सकते हैं.

इस तरह करें टिकट बुक

-सबसे पहले यात्री अपना मोबाइल नंबर, नाम, शहर, डिफ़ॉल्ट बुकिंग ट्रेन प्रकार, श्रेणी, टिकट का प्रकार श्रेणी, टिकट टाइप यात्रियों की संख्या और यात्रा करने वाले मागरें का विवरण देते हुए स्वयं को पंजीकृत करेगा.

-पंजीकृत हो जाने के बाद, शून्य राशि के साथ रेलवे वॉलेट (आर-वॉलेट) स्वत: ही बन जायेगा. आर-वॉलेट बनाने के लिए कोई अतिरिक्त चार्ज नहीं लगेगा

-आर-वॉलेट को किसी भी यूटीएस काउंटर या रेलवे की वेबसाइट पर उपलब्ध रिचार्ज विकल्प के माध्यम से रिचार्ज किया जा सकता है.

-यदि मोबाइल का इंटरनेट कनेक्शन उपलब्ध नहीं है, तो टिकट बुकिंग की अनुमति नहीं होगी.

-इसमे अग्रिम टिकट बुकिंग की अनुमति नहीं है यानि करेंट डेट ही हमेशा यात्रा की तारीख होगी.

-यात्री मोबाइल एप्लिकेशन के माध्यम से पेपरलेस यात्रा टिकट, सीजन टिकट और प्लेटफॉर्म टिकट बुक कर सकता है और टिकट मोबाइल एप्लिकेशन में ही आ जायेगा. यात्री टिकट की हार्डकॉपी के बिना यात्रा कर सकता है. जब भी टिकट जांच कर्मचारी टिकट मांगता है, तो यात्री ऐप में टिकट दिखाए विकल्प का उपयोग करेगा.

-पेपरलेस टिकट बुक करने के लिए स्मार्टफोन जीपीएस सक्षम होना चाहिए.

-पेपरलेस टिकटों के निरस्तीकरण की अनुमति नहीं है.

-यात्रा पेपरलेस टिकट बुकिंग के एक घंटे के भीतर शुरू होनी चाहिए.

-सीजन टिकट मोबाइल एप्लिकेशन से जारी / नवीनीकृत किया जा सकता है और यह टिकट बुकिंग के अगले दिन से मान्य होगा. सीजन टिकट को जारी/नवीनीकरण के लिए जीपीएस की कोई ज़रूरत नहीं है.

-प्लेटफॉर्म टिकट भी मोबाइल एप्लिकेशन से बुक किया जा सकता है.

-यदि यात्री मोबाइल पर टिकट दिखाने में असफल होता है तो उसे टिकट रहित यात्रा माना जाता है.

-यात्री मोबाइल एप के माध्यम से टिकट बुक कर सकता है. टिकट की बुकिंग पर, उसे अन्य टिकट विवरणों के साथ बुकिंग आईडी मिल जाएगी. बुकिंग विवरण बुकिंग इतिहास में भी उपलब्ध होंगे. बुकिंग आईडी को एक एसएमएस के माध्यम से भी बताया जाएगा.

-पेपर टिकट बुकिंग करने के बाद, यात्री अपने पंजीकृत मोबाइल नंबर और बुकिंग आईडी दर्ज करके, यात्रा के प्रारम्भिक (स्त्रोत) स्टेशन पर जाकर किसी भी एटीवीएम से प्रिंट ले सकता है. यात्रा केवल मुद्रित टिकट के साथ मान्य है.

-पेपर टिकट के निरस्तीकरण टिकट मुद्रित होने के बाद काउंटर पर अथवा मुद्रित होने से पहले एप के माध्यम से किया जा सकता है. दोनों मामलों में, निरस्तीकरण शुल्क लागू होगा.

-पेपर टिकट प्रिंट होने के एक घंटे के भीतर यात्रा शुरू होनी चाहिए.

-विस्तृत जानकारी के लिए वेबसाइट https://www.utsonmobile.indianrail.gov.in पर जाएं.