-कैंट स्टेशन कैंपस में पे एंड यूज टॉयलेट में संचालक पैसेंजर्स से वसूल रहे हैं मनमाना चार्ज

-रेट लिस्ट को ढककर कर रहे अंधेरगर्दी, रेट के बाबत पूछने पर हो जा रहे हैं खफा

varanasi@inext.co.in

VARANASI

रेलवे ने पैसेंजर्स की सुविधा के लिए कैंट स्टेशन पर पे एंड यूज टॉयलेट बनाया है. लेकिन यहां तो पैसेंजर्स की जेब हल्की हो रही है. संचालक खुलेआम पैसेंजर्स से मनमाना पैसा वसूल रहे हैं. इन टॉयलेट में रेट से कई गुना अधिक पैसा लिए जा रहा है. हालत यह है कि रेट के बाबत पूछने पर संचालक लड़ाई पर उतारू हो जा रहे हैं. यह हाल तब है जबकि बीते गुरुवार को ही स्टेशन डायरेक्टर की चेकिंग में प्लेटफॉर्म नंबर एक पर स्थित पे एंड यूज टॉयलेट के संचालक को अधिक पैसा लेने पर पांच हजार रुपये का फाइन लगाया गया था.

फ्री सुविधा का भी ले रहे पैसा

स्टेशन पर पे एंड यूज के ज्यादातर शौचालयों में अभी टॉयलेट करने लिए एक से दो रुपये और शौच व स्नान के लिए 15 से 20 रुपये सुविधा शुल्क के रूप में लिया जाता है. जबकि इस बारे में रेलवे की ओर से सन् 2012 में स्पष्ट निर्देश है कि पे एंड यूज टॉयलेट में केवल शौच के लिए दो रुपये और शौच के साथ स्नान करने पर पांच रुपये वसूला जाना चाहिए. रेलवे ने टायलेट करने को मुफ्त की श्रेणी में रखा है. लेकिन इसे कोई भी संचालक फॉलो नहीं कर रहा है.

यहां तो खुले में कर रहे गंदगी

पे एंड यूज टॉयलेट में मनमाना रेट के चलते लोग कैंट स्टेशन कैंपस में इधर उधर गंदगी कर रहे हैं. पिछले दिनों रेलवे की ओर से तैयार की गयी रिपोर्ट के मुताबिक लोग पे एंड यूज टॉयलेट का इस्तेमाल करने की बजाय खुले में शौच कर रहे हैं. इसके पीछे पैसेंजर्स से तय रेट से अधिक पैसा लिया जाना बताया जा रहा है. एक्सपर्ट का मानना है कि यदि प्रॉपर चार्ज लिया जाए तो पैसेंजर्स व आने-जाने वाले कैंपस में इधर-उधर गंदगी ही न करें.

स्टेशन कैंपस में पे एंड यूज के तहत बने टॉयलेट में रेट लिस्ट लगाए गए हैं. इसके हिसाब से ही पैसेंजर्स से पैसा लेने का नियम बनाया गया है. शिकायत पर सीधे कार्रवाई की जा रही है.

आनंद मोहन, स्टेशन डायरेक्टर

कैंट रेलवे स्टेशन