-खानपट्टी क्रॉसिंग पर हुई घटना के दूसरे ही दिन कैंट स्टेशन पर हुई चूक, बड़ा हादसा होने से बचा

-निर्धारित के बजाय दूसरे प्लेटफॉर्म पर सद्भावना एक्सप्रेस के पहुंचने से मचा हड़कंप

varanasi@inext.co.in

VARANASI

एक दिन पहले खानपट्टी रेलवे क्रॉसिंग पर बोलेरो से ट्रेन के टकराने की हुई घटना के दूसरे ही दिन शनिवार को कैंट स्टेशन पर बड़ा हादसा होने से बचा. मुजफ्फरपुर से यहां आई सद्भावना एक्सप्रेस निर्धारित प्लेटफॉर्म की जगह दूसरे प्लेटफॉर्म पर पहुंच गयी. फिर क्या इसके बाद तो स्टेशन कैंपस में हड़कंप मच गया. अच्छा ये रहा कि जिस प्लेटफॉर्म पर सद्भावना अचानक पहुंची वहां रेल ट्रैक खाली था, वरना हादसे का अंदाजा लगाया जा सकता है. आनन फानन में इस ट्रेन को एक घंटे 20 मिनट बाद उसे प्लेटफॉर्म नंबर चार पर लाया गया, तब ऑफिसर्स की सांस में सांस आयी. वहीं रेलवे एडमिनिस्ट्रेशन ने इस बड़ी चूकी की जांच के लिए कमेटी का गठन कर दिया है.

पहुंच गयी इलाहाबाद के रूट पर

एक के बाद एक हो रहे हादसे के बाद भी रेलवे की वर्किग स्टाइल में सुधार नहीं किया जा रहा है. इसका अंदाजा इससे ही लगाया जा सकता है कि सद्भावना एक्सप्रेस को लखनऊ रूट के ट्रैक पर पहुंचना था लेकिन वह पहुंच गयी इलाहाबाद रूट के ट्रैक पर. मुजफ्फरपुर से नई दिल्ली जाने वाली सद्भावना एक्सप्रेस शनिवार को ढाई घंटे लेट से दोपहर 1.30 बजे कैंट स्टेशन पहुंची. पैसेंजर्स से खचाखच भरी ट्रेन के अचानक प्लेटफॉर्म नंबर चार की बजाए दो पर पहुंचते ही ऑफिसर्स व संचालन से जुड़े कर्मचारियों के चेहरे पीले पड़ गए. उनको समझ में नहीं आ रहा था कि यह ट्रेन दूसरे प्लेटफॉर्म पर कैसे पहुंच गयी. आनन फानन में बिना लेट किए ट्रेन को यार्ड में ले जाया गया. जहां से उसे बैक करके प्लेटफॉर्म नंबर चार पर लाया गया तब सभी ने राहत की सांस ली.

जांच को बनी कमेटी

एडीआरएम रवि प्रकाश चतुर्वेदी ने बताया कि एनआर के वरिष्ठ सुपरवाइजर व एनई रेलवे के वरिष्ठ सुपरवाइजर के नेतृत्व में इस घटना की जांच के लिए कमेटी बनायी गयी है. दो दिन के अंदर रिपोर्ट सौंपने को कहा गया है. जांच रिपोर्ट के बाद दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.