ranchi@inext.co.in
RANCHI: रांची डिवीजन से खुलने वाली ट्रेनों को रीशिड्यूल करने का सिलसिला हाल के दिनों बढ़ता जा रहा है। लेकिन प्रॉपर जानकारी नहीं मिलने के कारण पैसेंजर्स को इसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा है। घंटों इंतजार करने के बाद भी उन्हें यह नहीं बताया जाता कि ट्रेन कब जाएगी। कुछ ऐसी ही घटना सोमवार को हटिया स्टेशन पर हुई। यहां हटिया-पुणे एक्सप्रेस ट्रेन को कई बार रीशिडयूल किया गया। लेकिन पूछने पर पैसेंजर्स को जानकारी नहीं दी गई। इसके बाद गुस्साएं पैसेंजर्स ने स्टेशन मैनेजर को घेर कर हंगामा करना शुरू कर दिया। भीड़ देख स्टेशन मैनेजर वहां से निकल लिए। वहीं इस घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस के जवानों को मोर्चा संभालना पड़ा।

इंक्वायरी काउंटर पर नहीं सुनते
गर्मी होने के बावजूद रांची और हटिया से खुलने वाली ट्रेनें रीशिड्यूल की जा रही हैं। ट्रेनों को रीशिड्यूल तो कर दिया जाता है। लेकिन इंक्वायरी काउंटर से पैसेंजर्स को जानकारी नहीं मिलती। एक दो बार अनाउंसमेंट करने के बाद उसे भी बंद कर दिया जाता है। इसके बाद जब पैसेंजर्स काउंटर पर पूछताछ करने पहुंचते हैं तो उन्हें काउंटर से डांटकर भगा दिया जाता है। खराब जेनरेटर ठीक नहीं हुआ

जेनरेटर लगाकर ट्रेन को रवाना किया
हटिया से पुणे जाने वाली ट्रेन का जेनरेटर खराब था। इसकी जानकारी विभाग को पहले ही दी गई थी। इसके बावजूद संबंधित विभाग के अधिकारियों ने जेनरेटर को ठीक नही कराया और न ही जेनरेटर की व्यवस्था की। इसके बाद दूसरी ट्रेन के हटिया पहुंचने के बाद उसका जेनरेटर लगाकर ट्रेन को रवाना किया गया।

टूटा था कपलिंग, नहीं दी सूचना
पिछले दिनों हटिया यार्ड से रांची-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस रांची स्टेशन के लिए रवाना हुई थी। इस बीच हटिया ओवरब्रिज के नीचे ही ट्रेन का कपलिंग टूट गया। इस चक्कर में ट्रेन साढ़े चार घंटे देरी से गई। लेकिन रेलवे ने उस समय भी पैसेंजर्स को प्रॉपर जानकारी नहीं दी। इसके चलते इस ट्रेन से जाने वाले पैसेंजर्स पर परेशान रहे।

ट्रेन रीशिड्यूल को लेकर जानकारी तो दी जानी चाहिए। लेकिन सोमवार को ऐसी सूचना मिली कि जानकारी नहीं दी जा रही थी। इससे पैसेंजर्स परेशान रहे। हम लोग इसके लिए प्लान कर रहे हैं कि ऐसी कंडीशन में पैसेंजर्स को टाइम से जानकारी मिल जाए।

सुहास लोहकरे, एसपीआरओ, रांची डिवीजन