क्वांटिटी कम कर अब फूड क्वॉलिटी पर ध्यान देगा रेलवे

आईआरसीटीसी के प्रस्ताव पर रेलवे ने दी मंजूरी

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: राजधानी-शताब्दी,दूरंतो और हमसफर जैसी ट्रेनों में पैसेंजर्स को दिये जाने वाले फूड की क्वांटिटी घटा दिये जाने का फैसला ले लिया गया गया है. क्वांटिटी कम करके क्वालिटी इंप्रूव करने के आईआरसीटीसी के प्लान को रेलवे ने ओके कर दिया है. कई फूडिंग आइटम्स की क्वांटिटी घटाई गयी है तो कुछ में कोई एक चूज करने का विकल्प दिया गया है. इसे फूड वेस्टेज कम करने की दिशा में भी एक पहल माना जा रहा है.

चाय या सूप में से चूज करें

राजधानी, दूरंतो व शताब्दी ट्रेन में पैसेंजर्स के बैठते ही चाय या काफी सर्व की जाती है. इसके साथ बिस्किट कांप्लीमेंट्री होता है. भोजन के पहले सूप दिया जाता है. नए निर्णय के अनुसार पैसेंजर को चाय-कॉफी के साथ बिस्किट नहीं मिलेगा. सूप या चाय में एक का चयन करना होगा. यदि पैसेंजर चाय पसंद करता है तो उसको भोजन से पहले सूप नहीं दिया जाएगा. इसके बाद भी पैसेंजर भोजन के पहले सूप पीना ही चाहता है तो उसे इसके लिए एक्स्ट्रा पे करना होगा.

राजधानी, अगस्त क्रांति में कॉम्बो मील नहीं

आईआरसीटीसी के सर्वे में यह तथ्य सामने आया था कि ज्यादातर पैसेंजर्स नियमित भोजन तो पसंद करते हैं, लेकिन कॉम्बो मील पसंद नहीं करते. इसलिए आईआरसीटीसी ने निर्णय लिया है कि राजधानी व अगस्त क्रांति एक्सप्रेस ट्रेन में पैसेंजर्स को कॉम्बो मील नहीं दिया जाएगा. इन ट्रेनों में पैसेंजर को नियमित भोजन दिया जाएगा.

150 नहीं, 120 ग्राम दी जाएगी दाल

ट्रेनों में परोसे जाने वाले मेन्यू को लेकर बनाई गई एक कमेटी की सिफारिशों को रेलवे लागू करने जा रहा है

आईआरसीटीसी को सर्वे से मिली फाइंडिंग के अनुसार एक सामान्य भारतीय की डाइट 700 ग्राम होती है

फिलहाल रेलवे में 900 ग्राम खाना दिया जा रहा है

रेलवे अब खाने में 200 ग्राम की कटौती करने वाला है

खाने में कटौती कर उसकी गुणवत्ता पर ध्यान दिया जाएगा, जिससे पैसेंजर्स को बेहतर खाना दिया जा सके.

दाल और सब्जी 150 ग्राम की बजाय अब 120 ग्राम दी जाएगी.

मांसाहारी खाने में बोनलेस चिकन दिया जाएगा

खाने की थाली में एक सूखी सब्जी भी रखी जाएगी

100 ग्राम के वजन वाले पराठे 70 ग्राम के हो जाएंगे

900

ग्राम क्वांटिटी होती है ट्रेनो में मिलने वाले मील की

700

ग्राम ही होती है एक सामान्य आदमी की डाइट

200

ग्राम की कटौती होगी प्रत्येक पैसेंजर की थाली से

30

ग्राम कम की जाएगी दाल की मात्रा

30

ग्राम कटौती होगी हर पराठे के वजन में

ट्रेनों में फूड क्वॉलिटी को बेहतर बनाने का लगातार प्रयास हो रहा है. इसीलिए फूड क्वांटिटी कम करने का निर्णय लिया गया है. इसका लाभ रेलवे और पैसेंजर दोनों को होगा. भोजन को वेस्ट होने से भी रोका जा सकेगा.

अमित मालवीय

पीआरओ, एनसीआर