2311 फ्लैट बनाने शुरू किए गए थे साल 2012 में

6 साल बाद बनकर तैयार हुए फ्लैट

1343 फ्लैट बिक चुके हैं फ्लैट योजना के तहत

गत सप्ताह बरसात में जाम होकर जर्जर हुई सीवर लाइन

आवासों में आई सीलन और क्षतिग्रस्त हुई नालियां

Meerut . आवास-विकास की अति महत्वपूर्ण जागृति विहार एक्सटेंशन की फ्लैट योजना बसने से पहले ही उजड़ने लगी है. अभी इस योजना के तहत बने फ्लैट्स का आवंटन भी शुरू नहीं हुआ कि गत सप्ताह आई तेज बारिश से योजना की नींव तक दिखने लगी है. योजना की सीवर लाइन, नाले से कनेक्ट ना होने के कारण फ्लैट योजना में पार्क से लेकर ग्राउंड फ्लोर तक पानी भर गया था. आनन-फानन में आवास-विकास इन कमियों की मरम्मत कर भरपाई में जुटा है.

करोड़ों की योजना पानी-पानी

एक्सटेंशन फ्लैट योजना के तहत साल 2012 में 2311 फ्लैट बनाने शुरू किए गए थे. ये फ्लैट छह साल बाद बनकर तैयार हुए लेकिन अभी तक भी इस योजना में सड़क, पार्क और सीवर लाइन जैसी सुविधाएं पूरी तरह सुचारू नहीं हो सकी. इस कमी के चलते छह साल बाद भी आवेदक इस योजना में फ्लैट की पजेशन लेने से कतरा रहे हैं.

प्रबंधन पर उठे सवाल

फ्लैट योजना में 1343 फ्लैट बिक चुके है और करीब 968 फ्लैट अभी बिकने से बाकी हैं. अभी दो माह पहले आवास विकास ने पोजेशनिंग देना शुरु किया है लेकिन अभी तक सीवर लाइन चालू नहीं हो सकी. आवास-विकास ने दावा किया था कि कई ब्लॉक में सीवर लाइन चालू हैं लेकिन गत सप्ताह बारिश में सीवर लाइन पूरी तरह ठप हो गई. अब आनन-फानन में आवास-विकास ने दोबारा योजना में नालियों और सीवर लाइन की मरम्मत का काम शुरू कर जल निकासी प्रबंधन को अपडेट करना शुरू किया है.

दीवार और लेंटर में सीलन

हालत यह है कि दो दिन की बारिश में नवनिर्मित फ्लैट की दीवारों में सीलन घर कर गई है. अंदर फ्लैट में दीवारों से सीमेंट झड़ने लगा है. टॉप फ्लोर के लेंटर से तो पानी भी टपक रहा है.

एक्सटेंशन योजना में सीवर का काम अभी चल रहा है. अधिकतर ब्लॉक पूरी तरह तैयार हैं लेकिन जलभराव होने के कारण कुछ ब्लॉक प्रभावित हुए थे, जिनमें कमियां दूर की जा चुकी हैं.

प्रमोद सिंह, ईएक्सईएन