सरधना : बुधवार दोपहर हुई बारिश ने जहां भीषण गर्मी से लोगों को राहत दी, वहीं बारिश के साथ आयी आंधी अपने साथ आफत लेकर आई. कुछ ही देर की बारिश में कई जगह जलभराव हो गया. जिससे लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा. आंधी में पेड़ उखड़ कर सड़कों पर गिर पड़े. कुछ जगह टिन शेड आदि भी उड़ गए. हालांकि बारिश से किसानों के चेहरे खिल उठे.

कीचड़ में फिसले गिरे

भीषण गर्मी से लोग कई दिन से जूझ रहे थे. बुधवार दोपहर मौसम का मिजाज बदला और आंधी के साथ बारिश होने लगी. जिसके चलते लोगों को भीषण गर्मी से निजात मिली. बारिश में जगह-जगह जलभराव हो गया. कीचड़ में कई लोग फिसल कर चोटिल हुए. वहीं आंधी में कुछ जगह पेड़ उखड़ कर गिर पड़े. जिनसे रास्ते बंद हो गए और बिजली के बिजली के तार और खंभे भी टूट गए. लोगों ने किसी तरह रास्तों से पेड़ हटाए. तार और खंभे टूटने से कई क्षेत्रों में बिजली आपूर्ति बाधित हो गई. बारिश से खेतों की सिंचाई की तैयारी में जुटे किसानों के चेहरे खिल उठे.

बारिश से किसानों के चेहरे खिले

सरूरपुर : बुधवार की दोपहर बाद अचानक तेज हवा के साथ हुई बारिश से एक ओर जहां तपती गर्मी से राहत मिली वहीं बारिश किसानों के लिए वरदान साबित हुई. गेहूं की फसल खेतों से कटने के बाद जायद फसल की बुवाई से पहले बारिश होने से किसान गदगद हो गए. बारिश से खेतों में खड़े हरे चारे के साथ गन्ने की फसल के लिए फायदा पहुंचेगा. इसके चलते किसानों के चेहरे खिल गए है.