फाइनल डिसाइड नहीं प्‍लेन
केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूडी के लिए प्‍लेन उड़ान कोई बड़ी बात नहीं है क्‍योंकि यह एक ट्रेंड पायलट हैं। एअर इंडिया और इंडिगो एयरलाइंस की ओर से ऑनरेरी (मानद) पायलट बनने का ऑफर भी मिल चुका है, लेकिन इनको लेकर एक बड़ी खास बात है। ऐसा पहली बार होगा कि देश का कोई मंत्री पायलट बनने जा रहा हो। जी हां राजीव प्रताप रूडी बहुत जल्‍द प्‍लेन उड़ाने वाले हैं। फिलहाल यह फाइनल नहीं डिसाइड हुआ कि वह वह किस कंपनी का प्‍लेन उड़ाएंगे। उनसे पहले पूर्व पीएम राजीव गांधी भी पायलट के रूप में पहचान बना चुके हैं, लेकिन वह राजनीति में आने के बाद इसमें नहीं शरीक हुए। सबसे खास बात तो यह है कि राजीव प्रताप की पत्‍नी नीलम भी एयरलांइस से जुड़ी रहीं नीलम इंडियन एयरलाइंस की सहायक अलायंस एयर में सीनियर केबिन क्रू रह चुकी हैं।

लाइसेंस वैलिड रखने के लिए

वहीं इस संबंध में केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूडी का कहना है कि वह एक ट्रेन्ड पायलट है। फ्लोरिडा में 2007 में पायलट बनने के बाद वह एयरबस A320 प्लेन उड़ा चुके हैं। इसके अलावा वह और भी कई प्‍लेन उड़ा चुके हैं। ऐसे में उनका कहना है उन्‍हें वह अब अपने लाइसेंस के लिए प्‍लेन उड़ाना चाहते हैं। उनका लाइसेंस बिल्‍कुल समाप्‍ति की कगार पर है। जिससे वह उसे बरकरार रखना चाहते हैं। हालांकि उनका इशारा इंडिगो और एअर इंडिया की कई फ्लाइट्स की तरफ है। उनका कहना है कि इंडिगो के पास 19, विस्तार के पास 9 और एअर एशिया इंडिया के पास 6 फ्लाइट्स हैं। इनमें से यह हो सकता है कि इंडिगो का प्‍लेन उड़ा सकते हैं।

inextlive from India News Desk

National News inextlive from India News Desk