-डीजीपी के निर्देश पर सभी पुलिसकर्मियों ने बंधवाई राखी

-उत्साहित महिलाएं और स्कूली बच्चियां पहुंचीं अफसरों के घर

रक्षाबंधन के पर्व पर रविवार का दिन कुछ खास रहा. बहनों ने सभी थानों और चौकियों में पुलिसकर्मियों को राखी बांधी और खाकी वाले भाइयों ने बदले में उन्हें रक्षा का भरोसा दिलाया. उत्साहित महिलाओं और स्कूली बच्चियों के अलावा ब्रह्माकुमारी और सामाजिक संगठनों की महिलाओं ने भी अफसरों को राखी बांधी. सोशल मीडिया पर रविवार को पूरे दिन 'राखी विथ खाकी' ट्रेंड करता रहा. वहीं, रामनगर पीएससी, सीआरपीएफ पहडि़या और 39 जीटीसी में भी रक्षाबंधन पर्व मनाया गया.

दृष्टि बाधित बच्चियों ने एसएसपी को बांधी राखी

एससपी आनंद कुलकर्णी के आवास पर रविवार की सुबह पहुंची दृष्टिबाधित बच्चियों ने उन्हें रक्षासूत्र बांधा और सुरक्षा का वादा लिया. एसएसपी ने सभी बच्चियों का मुंह मीठा कराया और उन्हें उपहार भी दिए. एडीजी जोन पीवी रामाशास्त्री के कार्यालय में ब्रह्माकुमारियों ने उन्हें व अन्य स्टाफ को राखी बांधी. आईजी रेंज विजय सिंह मीणा के कार्यालय में भी महिलाओं ने उन्हें राखी बांधी.

मांगा हेलमेट पहनने का संकल्प

ट्रैफिक पुलिस ने रक्षाबंधन पर अलग ही योजना बना रखी थी. हर चौराहे पर राखी और मिठाइयां रखी गई थी. बिना हेलमेट चलने वाली महिलाओं को रोककर उनसे राखी बंधवाई गई और आइंदा हेलमेट पहनने का संकल्प लिया गया. ट्रैफिक पुलिसकर्मियों ने उन्हें चॉकलेट देकर विदा किया.

थानों पर भी राखी की धूम

सभी सीओ कार्यालयों और थानों में भी राखी की धूम रही. सीओ दशाश्वमेध स्नेहा तिवारी ने अपने हमराहियों को राखी बांधकर रक्षा का वचन लिया तो सभी थानों पर इंस्पेक्टरों और स्टाफ ने राखी बंधवाई. इंस्पेक्टर कोतवाली आशुतोष तिवारी, इंस्पेक्टर कैंट राजीव रंजन उपाध्याय, इंस्पेक्टर चेतगंज अजीत मिश्रा, इंस्पेक्टर लंका भारतभूषण तिवारी, एसओ मंडुवाडीह संजय त्रिपाठी समेत सभी थानेदारों ने स्थानीय महिलाओं से राखी बंधवाई और उन्हें रक्षा का भरोसा दिया.