-कॉलोनी में काटी गई झाडि़यां, पार्को की सुधारी जा रही हालत

BAREILLY :

बीडीए की रामगंगा आवासीय योजना के तहत बनी कॉलोनी बसने से पहले ही लुटना शुरू हो गई थी. खाली पड़े मकानों में अराजक तत्वों ने गेट, बिजली की फिटिंग यहां तक कि बेसिन तक कई मकानों की उखाड़ ले गए. मकानों के साथ पार्क भी बदहाल हो चुके थे. दैनिक जागरण आईनेक्स्ट ने 16 सितम्बर को रियलिटी चेक कर 'बसने से पहले ही लुट गई कॉलोनी' न्यूज पब्लिश की थी. जिसे बीडीए ने गंभीरता से लेते हुए कॉलोनी के पार्क को साफ करा कर कॉलोनी में चौकीदार भी रख दिए हैं. ताकि कोई कॉलोनी में बने मकानों को नुकसान न पहुंचा सके.

12 सौ मकान हैं कॉलोनी में

ज्ञात हो बीडीए ने रामगंगा आवासीय योजना में 12 सौ मकान बनाए हैं. इसमें से 800 मकानों का आवंटन तो हो चुका है लेकिन अभी तक मकान खरीदने वाले रहने के लिए नहीं पहुंचे हैं. वहीं 400 मकानों का अभी तक आवंटन भी नहीं हो पाया है. जिसके चलते कॉलोनी के अधिकांश मकान खाली हैं. मकान खाली होने के चलते अराजक तत्वों ने वहां पर खुराफात कर करीब दर्जन भर मकानों के मेन गेट ही उखाड़ लिए. इसके साथ मकान में चोरों ने सिंक, बिजली बोर्ड, लकड़ी फ्रेम और टैप आदि तक उखाड़ ले गए. मकानों में लगा कांच भी पत्थर मारकर तोड़ दिए हैं. कॉलोनी में बिजली सप्लाई के लिए लगाए गए ट्रांसफर को भी ऑयल चोरी करने के बाद उल्टा गिरा दिया है. इतना ही नहीं पार्क में लगा इंडिया मार्का हैंडपम्प का आधा हिस्सा भी चाेर ले गए.

खबर के बाद एक्शन में बीडीए

दैनिक जागरण आईनेक्स्ट ने बीडीए रामगंगा आवासीय योजना के नए मकानों में चोरी और बदहाली का रियलिटी चेक कर न्यूज पब्लिश की थी. जिसके बाद बीडीए के अफसर जागे. बीडीए की तरफ से कॉलोनी के पार्को को साफ कराया दिया गया. पार्क में इंडिया मार्का हैंडपम्प भी ठीक करा दिया गया. वहीं बगैर अलॉट किए मकानों की सफाई का काम भी शुरू करा दिया है. मकानों में चोरी होने से बचाने के लिए बीडीए ने कॉलोनी में फैमिली वाले लोगों को चौकीदारी का काम दिया है. लेकिन इन चौकीदारों को बीडीए की तरफ से कोई भुगतान नहीं किया जाएगा. वह मकानों में रहने के साथ कॉलोनी में चौकीदारी के साथ मकानों की साफ-सफाई भी करेंगे.,

==========

कॉलोनी में पार्क और मकानों की सफाई कराना शुरू कर दी गई है. कई पार्क तो साफ भी हो चुके हैं. मकानों में चोरी रोकने के लिए सेक्टर वायज आसपास के लोगों को चौकीदार रखे हैं.

सुरेन्द्र कुमार सिंह बीडीए वीसी