-सुविधाएं मुहैया कराने के लिए 25 करोड़ करेगा खर्च

-फ्लैट की डिमांड न आने पर अधिकारियों ने उठाया कदम

BAREILLY:: रामगंगा गंगा आवासीय योजना के खाली पड़े 400 फ्लैट को बेचने के लिए बीडीए पब्लिक को रिझाने में लगा हुआ है. इसके लिए कॉलोनी परिसर में मूलभूत सुविधाएं बढ़ाने का अधिकारियों ने फैसला लिया है. इस क्रम में विभाग 25 करोड़ रुपए खर्च करने जा रहा है, पार्क, लाइटिंग और नालियों के बनाने का काम किया जाएगा.

14 वर्ष से अटका है काम

रामगंगा आवासीय योजना वर्ष 2004 बीडीए ने लॉन्च की थी. 1200 फ्लैट बनाए गए थे. हैरत की बात यह है कि इनमें से महज 800 फ्लैट ही बुक हो सके. बाकी फ्लैट्स के लिए बीडीए को खरीदार ढूंढे नहीं मिल रहे हैं. 400 फ्लैट्स की बिक्री के लिए बीडीए ने पांच बार आवेदन भी मांगे, लेकिन इक्का-दुक्का खरीदार भी नहीं पहुंचे.

आवंटन रद कराने से मचा हड़कम्प

खाली पड़े 400 फ्लैट्स बीडीए बेच नहीं पा रहा है. इस बीच तकरीबन 100 खरीदारों ने आवंटन रद करने का अप्लीकेशन दे दिया. इन लोगों ने मूलभूत सुविधाएं न होने का आरोप लगाया था. पिछले कई वर्षो से पीने का पानी, अंधेरा और पार्क तक की सुविध न होने से खरीदारों में नाराजगी दिखी, जिसके बाद अफसरों ने रणनीति बदल दी. फ्लैट्स खरीदने के लिए आवेदन मांगने से पहले बीडीए ने फैसिलिटी बढ़ाने का फैसला लिया. ताकि, सुविधाओं के नाम पर कस्टमर्स को अट्रैक्ट किया जा सके.

पांच करोड़ में बनेगी सड़क

रामगंगा आवासीय योजना में बीडीए पांच करोड़ की लागत से अलग-अलग हिस्सों में सड़क का निर्माण कराएगा. इसमें इंटरलॉकिंग, आरसीसी और डामर की होगी. सड़कों के दोनों तरफ नालियां भी बनाई जाएंगी जिससे सड़कों पर जलभ्ाराव की समस्या न रहे.

एक करोड़ में संवरेगा पार्क

रामगंगा आवासीय योजना के पार्क को एक करोड़ में संवारने की तैयारी है. पार्को में झूले, पौधरोपण और पेयजल की व्यवस्था मुहैया कराई जाएगी.

200 करोड़ से अधिक का है खर्च

बीडीए के अधिकारियों ने बताया कि रामगंगा आवासीय योजना को पूरी तरह डेवलप करने के लिए 200 करोड़ रुपए और खर्च करने की दरकार है. रुपए मिल भी जाएं, तो इसे पूरा करने में 3 साल लगना तय है. विभाग का लक्ष्य है कि वर्ष 2021 कॉलोनी का डेवलपमेंट वर्क पूरा कर लिया जाए.

तो 3 साल बाद होगी चहल पहल

कॉलोनी में 3 साल बाद ही पूरी सुविधाएं मिल पाएंगी, तो आवंटी भी इससे पहले रुख करने में इंट्रेस्ट नहीं लेंगे यह बात तय है. इस दौरान बीडीए फ्लैट्स के रेट बढ़ाती है, तो इनकी बिक्री पर एक नया संकट खड़ा हो जाएगा.

रामगंगा आवासीय योजना की कॉलोनी में मूलभूत सुविधाएं बढ़ाई जा रही हैं. इसके लिए 25 करोड़ रुपए बीडीए खर्च करने जा रहा है. जल्द ही कॉलोनी में पार्क, स्ट्रीट लाइट्स और नाली-सड़क जैसी सुविधाएं मुकम्मल मिलेंगी.

डॉ. सुरेंद्र कुमार, बीडीए वीसी