RANCHI: सिटी में पानी संकट को देखते हुए राज्यसभा सांसद महेश पोद्दार ने रांची नगर निगम को 10 वाटर टैंकर के लिए सांसद निधि से राशि देने की अनुशंसा की. साथ ही उन्होंने जन प्रतिनिधियों का मानदेय बढ़ाने की भी वकालत की. उन्होंने नव निर्वाचित जन प्रतिनिधियों को शुभकामनाएं दी और उनके लिए ट्रेनिंग सेशन चलाने पर जोर दिया. वह बुधवार को रांची नगर निगम की बोर्ड मीटिंग में शामिल हुए.

नगर निगम की कार्यशैली पर सवाल

उन्होंने मीटिंग में नगर निगम की कार्यशौली पर जमकर हमला बोला. सांसद ने इस बात पर भी गहरी नाराजगी जताई कि एक तरफ तो निगम वाटर हार्वेस्टिंग नहीं करनेवालों से पेनाल्टी वसूल रहा है,जबकि खुद सार्वजनिक स्थलों पर वाटर हार्वेस्टिंग की योजना शुरू भी नहीं कर पाया है. उन्होंने कहा कि प्रावधानों का अनुपालन जितना जनता के लिए बाध्यकारी है उतना ही सरकार के लिए भी होना चाहिए.

तीन अधिकारियों पर गिरी गाज (बॉक्स)

सांसद की तल्खी देखते हुए नगर आयुक्त डॉ शान्तनु अग्रहरि ने तत्काल संबंधित कार्यपालक अभियंता, अधीक्षण अभियंता एवं सिटी मैनेजर के खिलाफ विभागीय कार्रवाई शुरू करने का आदेश दिया. मिसिंग लिंक स्कीम को जनता की आंखों में धूल झोंकनेवाली कार्रवाई बताते हुए सांसद ने विभाग के सहायक अभियंता से जवाब तलब किया.