क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : शहर को स्वच्छ, व्यवस्थित और स्मूथ ट्रैफिक देने का जिम्मा रांची नगर निगम का है. ऐसे में शहर की सूरत बिगाड़ने वाले लोगों पर निगम का शिकंजा कसता जा रहा है. इसी के तहत शहर की छवि खराब करने वाले लोगों की आदतों से रांची नगर निगम कमा रहा है. जहां गंदगी फैलाने, ओपन यूरीनेशन और डस्टबिन नहीं रखने पर लोगों से फाइन वसूला जा रहा है. इससे रांची नगर निगम को अच्छी कमाई हो रही है. इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जनवरी से जुलाई तक फाइन से निगम को 63.5 लाख रुपए मिल चुके हैं.

कहां-कहां से कमाई

1-गलत रूट में इ-रिक्शा

शहर में इ-रिक्शा के संचालन के लिए रांची नगर निगम से रूट पास जारी किया गया है. वहीं दूसरे रूट में इ-रिक्शा का संचालन करते हुए पकड़े जाने पर 5 से 25 हजार रुपए फाइन लगाने का प्रस्ताव है. ऐसे में रांची नगर निगम ने इ-रिक्शा निर्धारित रूट पर नहीं चलाने वाले संचालकों से रूट वायलेशन के लिए 13,83,500 रुपए का फाइन वसूला गया. जो इ-रिक्शा से वसूला जाने वाला इस साल का सबसे अधिक फाइन है.

2-ओपन यूरीनेशन

सिटी को स्वच्छ बनाने के लिए आरएमसी ने जगह-जगह यूरीनल्स का निर्माण कराया है. इसमें लेडीज और जेंट्स के लिए सेपरेट टॉयलेट हैं. इसके बावजूद लोग यूरीनल्स का इस्तेमाल करने के बजाय रोड किनारे ही शुरू हो जाते हैं. इसके लिए रांची नगर निगम के एक्ट के अनुसार 100 रुपए फाइन लगाने का प्रावधान है. ऐसे में 321 लोग नियमों का उल्लंघन करते हुए ऑन स्पॉट पकड़े गए. इससे आरएमसी को 32,100 रुपए आमदनी हुई.

3-डस्टबिन नहीं रखना

स्वच्छ भारत मिशन के तहत सभी प्रतिष्ठानों में दो-दो डस्टबिन रखने का आदेश जारी किया गया है. एक में लोगों को गीला और दूसरे में सूखा कचरा कलेक्ट करना है. ताकि वेस्ट कलेक्शन के लिए आने वाले कर्मियों को परेशानी न हो और आसानी से वेस्ट डिस्पोजल किया जा सके. इसके बावजूद लोग डस्टबिन नहीं रखना चाहते. ऐसे ही लोगों पर इंफोर्समेंट टीम ने 3,19,700 रुपए फाइन लगाया है.

4- गंदगी फैलाना

सिटी में वेस्ट के लिए डोर टू डोर कलेक्शन किया जा रहा है. वहीं रोड किनारे भी इसके लिए ट्विन बिन लगाए गए हैं. इसके अलावा कई जगहों पर बड़े डस्टबिन भी लगाए गए हैं ताकि लोग अपने घर व दुकानों से निकलने वाला कचरा डस्टबिन में ही डालें. लेकिन कुछ लोग कचरा निकालकर रोड किनारे ही फेंक देते है. ऐसे ही लोगों पर कार्रवाई करते हुए 6,76,350 रुपए वसूल किए गए हैं.

......

चालान राशि

बिल्डिंग मैटेरियल 2,55,600

डस्टबिन नहीं 3,19,700

एन्क्रोचमेंट 1,70,600

इ-रिक्शा रूट वायलेशन 13,83,500

इलीगल होर्डिग, पोस्टर, बैनर 10,24,293

लीटरिंग 6,76,350

नो पार्किग 2,14,900

ओडीएफ 76,600

ओपन यूरीनेशन 32,100

प्लास्टिक कैरी बैग 7,55,890

अन्य 14,41,281

कुल 63,52,814