रांची: जुर्म की दुनिया में आतंक का पर्याय बन चुके अमन श्रीवास्तव गैंग के दो अपराधियों को पकड़ने में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। इन दोनों को रंगदारी में वसूले गए बड़ी रकम के साथ अरेस्ट किया गया है। रांची एसएसपी अनीश गुप्ता की रणनीति पुलिस के काम आई। उनके निर्देश पर नामी अपराधियों के खिलाफ चलाए जा रहे ऑपरेशन के दौरान खलारी पुलिस को रविवार को यह बड़ी सफलता हाथ लगी। गिरफ्तार अपराधी फिरोज आलम व मिनहाज आलम उर्फ गुड्डू का आका अमन श्रीवास्तव का पिता सुशील श्रीवास्तव भी कुख्यात अपराधी गिरोह का सरगना था। उसकी मौत के बाद अमन ने गिरोह की कमान संभाल रखा है।

कोयला कारोबारियों से वसूले थे

पुलिस की गिरफ्त में आए अमन श्रीवास्तव गिरोह के दोनों अपराधियों के पास से रंगदारी में वसूले गए 10 लाख 30 हजार रुपये कैश, चार मोबाइल फोन, एक डायरी बरामद की गई है। खलारी डीएसपी पुरुषोत्तम सिंह ने बताया कि खलारी में कोयला कारोबारियों को धमकी देकर पैसा वसूलने का काम अमन श्रीवास्तव गिरोह के ये दोनों अपराधी कर रहे थे। रविवार को गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने छापेमारी कीं मिनहाज आलम उर्फ गुडू हत्थे चढ़ा। मिनहाज आलम की निशानदेही पर रांची के दीपाटोली से फिरोज आलम को भी गिरफ्तार कर लिया गया। दोनों को पूछताछ के बाद जेल भेज दिया गया।