छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र: पर्यावरण बचाओ एवं प्रदूषण मुक्त भारत का उद्देश्य व संदेश लेकर जमशेदपुर से दिल्ली तक साइकिल यात्रा पूरी करने वाले छात्र रणवीर को को-ऑपरेटिव कॉलेज में मंगलवार को सम्मानित किया गया. इस मौके पर कोल्हान विश्वविद्यालय के एनएसएस समन्वयक डॉ. प्रसून दत्त सिंह, को-ऑपरेटिव कॉलेज के प्राचार्य डॉ. एनआर चक्रवर्ती, बर्सर डॉ. केएम महतो, एनएएस यूनिट 2 के समन्वयक डॉ. भूषण कुमार सिंह मौजूद थे. इस कार्यक्रम में एनएसएस वन एवं टू के सुधीर, निखिल, अभिषेक, मृत्युंजय एवं अन्य स्वयंसेवकों ने बढ़-चढ़कर भाग लिया. कार्यक्रम में को-ऑपरेटिव कॉलेज के छात्र रणवीर ने अपनी साइकिल यात्रा का पूरा वृतांत सुनाया.

-----------

मंत्रालय ने दिए 20 हजार

14 अगस्त को दिल्ली पहुंचने के बाद वहां भारत सरकार के युवा मामलों के सचिव एके उपाध्याय, संयुक्त सचिव असित सिंह, एनएसएस के निदेशक वीरेंद्र मिश्रा ने छात्र रणवीर मिला. इन पदाधिकारियों ने इस प्रयास की सराहना की तथा उन्हें सम्मानित किया. युवा मामलों के मंत्रालय की ओर से उन्हें 20 हजार रुपये प्रदान किए गए. इसके अलावा उन्होंने 19 अगस्त को दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सह सांसद मनोज तिवारी से भी मुलाकात की.

-------------

ऐसे पूरी की यात्रा

सरायकेला-खरसावां जिले के आदित्यपुर में रहने वाले कोल्हान विश्वविद्यालय के जमशेदपुर को-ऑपरेटिव कॉलेज के छात्र रणवीर दो अगस्त को जमशेदपुर से रवाना हुए थे. 12 दिन के सफर के बाद झारखंड, बिहार, उत्तर प्रदेश, हरियाणा के कई जिलों से होते हुए वह दिल्ली स्थित लाल किले तक 14 अगस्त को पहुंचे. इस दौरान उसने कुल 1350 किलोमीटर की यात्रा तय की. रणवीर ने बताया कि वह रोजाना 100 किलोमीटर का सफर तय करते थे. तीन दिन बारिश में भींग कर साइकिल चलानी पड़ी. कोल्हान विश्वविद्यालय ने इस कार्य के लिए रणवीर को 34 हजार रुपये का सहयोग किया है. रणवीर कुमार आदित्यपुर एस टाइप के निवासी हैं. रणवीर के पिता परसुराम प्रसाद किसान हैं और मां विजयंति देवी गृहिणी हैं. रणवीर ने यह कार्य पर्यावरण और ईधन को संरक्षित करने तथा युवाओं को साइकिल चलाने को प्रोत्साहित करने के लिए किया. रणवीर ने बताया कि आजकल के युवा साइकिल से दूर भाग रहे हैं. जबकि यह पर्यावरण सरंक्षण रामबाण है. आज देश को पर्यावरण संरक्षित करने के लिए ईधन को बचाने तथा साइकिल चलाने का कार्य युवाओं को करना चाहिए.

-हमें इस छात्र पर गर्व है. छात्र ने कोल्हान विश्वविद्यालय का नाम देश के पटल पर स्थापित किया है. छात्र रणवीर का सम्मान केयू करेगा.

- डॉ. शुक्ला माहांती, वीसी, केयू