-थर्सडे को मेरा हक फाउंडेशन की समझौता अदालत में पहुंची थी कैंट की महिला

BAREILLY :

ससुर ने सारे रिश्ते तार-तार कर बहू को हवस का शिकार बना डाला. महिला जब विरोध करती तो उसे जान से मारने की धमकी देता था. बेटा मंद बुद्धि था, जिसका ससुर उसका लाभ उठाता था. थर्सडे को महिला हिम्मत कर मेरा हक फाउंडेशन के समझौता अदालत में पहुंची और आप बीती सुनाई. जिस पर उसके ससुर को बुलाकर जब पूछताछ की तो उसने अपना गुनाह भी कबूल लिया. अब महिला ससुर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराएगी.

13 वर्ष पहले हुआ था निकाह

कैंट थाना क्षेत्र की महिला ने बताया कि उसका निकाह 13 वर्ष पहले हुआ था. गरीबी के चलते उसके मां-बाप ने उसका निकाह सीधा समझ कर उसके शौहर से कर दिया, लेकिन वह मंदबुद्धि है. जिसके चलते ससुर ने उससे कई बार रेप किया. जब उसने विरोध किया तो उसे जान से मारने की धमकी देता था. जिस कारण पीडि़ता मुहं नहीं खोलती थी. सुबह मेरा हक फाउंडेशन के समझौता अदालत में पहुंची पीडि़ता ने अपनी पीड़ा सुनाई. पीडि़ता ने दर्द भरी कहानी को मेरा हक फाउंडेशन के अध्यक्ष फरहत नकवी को सुनाई तो सच्चाई सामने आई. फरहत नकवी ने आरोपी ससुर को भी बुलाया तो उसने तो उसने बहू के साथ एक बार रेप की बात कबूल कर ली. फरहत नकवी ने बताया कि पीडि़ता अब परिवार में रहना नहीं चाहती और इंसाफ के लिए मदद मांग रही है. वहीं मेरा हक फाउंडेशन की पीडि़ता को इंसाफ दिलाने के लिए कानून की मदद ली जाएगी.

प्रेमी के साथ रहेगी पीडि़ता

पीडि़ता ने बताया कि उसका शादी से पहले एक प्रेमी था वह अब उसी के साथ रहना चाहती है. जबकि परिवार ने आर्थिक तंगी के चलते उसका निकाह मंदबुद्धि से कर दिया था. ससुर ने उसको हवस का शिकार बना दिया. वही इसके बाद भी प्रेमी महिला को साथ रखने को तैयार है. महिला ने बताया कि प्रेमी की शादी हो चुकी और उसको कोई औलाद नहीं है. इसलिए वो पीडि़ता के साथ निकाह करना चाहता है.