-पुलिसकर्मियों पर गलत काम करने का आरोप लगाते हुए अधिकारियों के यहां की थी शिकायत

BAREILLY: बरेली पुलिस को मधुमती (काल्पनिक नामम) की तलाश है. मधुमती है तो पीडि़त लेकिन वह कौन है, कहां रहती है और उसके साथ कहां वारदात हुई, इसका पता तभी चल सकेगा जब वह मिलेगी. पुलिस उसकी बरेली, बदायूं और पीलीभीत जिले में तलाश कर चुकी है, लेकिन वह नहीं मिली है. उसने पीलीभीत के बीसलपुर थाना के पुलिसकर्मियों पर रेप का आरोप लगाते हुए पुलिस अधिकारियों को तहरीर दी थी, जिसकी जांच एसपी क्राइम को दी गई है.

पुलिसकर्मियों पर बुरा काम के आरोप

बता दें कि किशोरी ने जो प्रार्थना पत्र दिया कि वह बरेली की रहने वाली थी. उसके माता-पिता की बचपन में मौत हो गई थी, जिसके बाद वह अपने मामा के घर बदायूं रहने लगी थी. यहीं वह पली-बढ़ी है. उसका कहना है कि वह मामा के घर से बीसलपुर जा रही थी. जब वह बीसलपुर में थी तो एक कार आकर रुकी, जिसमें पुलिसकर्मी मौजूद थे. पुलिसकर्मियों ने उससे पूछा कि बेटा कहां जा रही हो तो उसने गांव जाने की बात कही. इस पर पुलिसकर्मियों ने कहा कि वह वहीं जा रहे हैं, उसे छोड़ देंगे. उसके बाद उसे एक कमरे में ले गए और उसके साथ गलत काम किया.

पते पर नहीं मिला कोई

जब पुलिस ने लड़की के दोनों पतों पर पता किया तो उसके बारे में कोई जानकारी नहीं मिली. बीसलपुर में भी जांच में ऐसी कोई वारदात सामने नहीं आयी. सिर्फ इतना सामने आया है कि किसी शख्स को शांतिभंग में चालान भेजा गया था. हो सकता है कि उसी ने पुलिस को परेशान करने के लिए झूठा प्रार्थना पत्र दिया हो लेकिन जब तक किशोरी नहीं मिलती, तब तक मामले का पता चलना मुश्किल है.