- राप्तीनगर में बनाई गई नई लाइन

-इमरजेंसी ब्रेक डाउन होने पर नहीं कटेगी लाइन

-इलाके में कटौती से परेशान लोगों को मिलेगी राहत

GORAKHPUR: राप्तीनगर शाहपुर बिजली घर से जुड़े करीब डेढ़ लाख लोगों के लिए राहत भरी खबर है। भीषण गर्मी को देखते हुए बिजली निगम ने इन दोनों उपकेंद्रों पर वैकल्पिक व्यवस्था शुरू की है। अब एक मेन लाइन में फाल्ट होने पर घंटों कटौती नहीं होगी। इसे तत्काल वैकल्पिक दूसरी लाइन से जोड़ दिया जाएगा। जिससे लोगों को घंटों होने वाली कटौती से राहत मिलेगी।

एक लाख कंज्यूमर होते थे प्रभावित

राप्तीनगर उपकेंद्र से ही शाहपुर भी जुड़ा है। राप्तीनगर में एफसीआई बिजली घर से मेन लाइन की सप्लाई मिलती है। जबकि शाहपुर को मोहद्दीपुर से लाइन की सप्लाई दी जाती है। मेन लाइन ( 33 केवी) में तकनीकी खराबी के चलते अक्सर दोनों उपकेंद्रों और इनसे जुड़े सभी फीडरों को बंद करना पड़ता था। इससे लाखों कंज्यूमर एक साथ प्रभावित होते थे। बिजली निगम ने इसके लिए वैकल्पिक व्यवस्था शुरू की है। इसके तहत दोनों उपकेंद्रों को भटहट बिजली घर से जोड़ दिया जाएगा।

वर्जन-

भटहट से करीब 8 किमी लंबी नई लाइन बनाई गई है। आईपीडीएस योजना के तहत इसमें ढ़ाई करोड़ रुपए की लागत आई है। शाहपुर में 12 हजार और राप्तीनगर में 22 हजार घरों के करीब डेढ़ लाख लोगों को इससे लाभ मिलेगा।

मुदित तिवारी, अधीक्षण अभियंता