- आरबीआई के आल इंडिया हाउस प्राइस इंडेक्स में कानपुर निगेटिव ग्रोथ के साथ सबसे नीचे

- 2018-19 की दूसरी तिमाही का इंडेक्स किया जारी, इंडेक्स में देश के 10 प्रमुख शहर शामिल

kanpur@inext.co.in
KANPUR: अगर आप प्रॉपर्टी खरीदने के बारे में सोच रहे हैं तो देर मत कीजिए। क्योंकि इस समय कानपुर की प्रॉपर्टी प्रदेश ही नही देश में सबसे सस्ती है। प्रॉपर्टी के रेट बढऩे की बजाए कम हो रहे हैं। दाम बढऩे के बजाए कम हो गए है। यह हम नहीं कह रहे बल्कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के आल इंडिया हाउस प्राइस इंडेक्स (एचपीआई) की रिपोर्ट कह रही है। जिसमें कानपुर सबसे नीचे है। देश के 10 प्रमुख शहरों को लेकर जारी किए गए इस इंडेक्स में चारों मेट्रो सिटीज भी शामिल हैं। प्रॉपर्टी की कीमतों में ग्रोथ की बात करें तो सबसे बेहतर ग्रोथ चेन्नई की है। जबकि कानपुर की एचपीआई में निगेटिव ग्रोथ है। एचपीआई में फाइनेंशियल ईयर 2018-19 की एनुअल ग्रोथ और सेकेंड क्वार्टर की ग्रोथ को दिखाया गया है। एनुअल और क्वार्टर दोनों में ही प्राइज में ग्रोथ की बात करें तो कानपुर में यह निगेटिव में है।

तो गिरे प्रॉपर्टी के भाव
आरबीआई हर फाइनेंशियल ईयर की तिमाही को एचपीआई जारी करता है। जिसमें तिमाही ग्रोथ के अलावा ओवरऑल एनुअल ग्रोथ के आंकड़े भी शामिल होते हैं। फ्राईडे को जारी इस रिपोर्ट में 6।2 परसेंट के साथ सबसे ज्यादा प्रॉपर्टी के भावों में ग्रोथ देखी गई है। जबकि कानपुर में यह माइनस 5।6 परसेंट है। यानी कि ग्रोथ निगेटिव है। यह आंकड़ा 2018-19 की दूसरी तिमाही का है। जबकि एनुअल ग्रोथ के आंकड़ों पर गौर करें तो ईयर ऑन ईयर बेसिस पर आल इंडिया एचपीआई में 5।7 परसेंट की ग्रोथ है। जोकि पहली तिमाही से कम है। कानपुर को छोड़ सभी 9 शहरों में प्रापर्टी के भाव बढ़े हैं। एचपीआई की एनुअल ग्रोथ की बात करें तो कानपुर में यह माइनस 3 परसेंट है। जिसका मतलब है कि प्रापर्टी के भाव बढ़े नहीं बल्कि कम हो गए।

आरबीआई की हाउस प्राइज इंडेक्स रिपोर्ट -

10 प्रमुख शहरों को लेकर जारी किया गया इंडेक्स

4 मेट्रो सिटीज भी देश के इस लिस्ट में हैं शामिल

6.2 परसेंट के साथ प्रॉपर्टी के भावों में सबसे ज्यादा ग्रोथ

-5.6 परसेंट ग्रोथ के साथ कानपुर सबसे निचले पायदान पर

9 बाकी सभी शहरों में प्रॉपर्टी के भावों में हुई ग्रोथ

2018-19 की दूसरी तिमाही की रिपोर्ट है यह

3 परसेंट माइनस में एनुअल ग्रोथ है कानपुर प्रॉपर्टी की

इंडेक्स में शामिल 10 शहर-

मुंबई,दिल्ली, चेन्नई, कोलकाता, बेंगलुरू, अहमदाबाद, लखनऊ, कानपुर जयपुर, कोच्चि

कैसे कैलकुलेट होती है एचपीआई ग्रोथ
एचपीआई ग्रोथ कैलकुलेशन में प्रमुख शहरों की हाउसिंग रजिस्ट्रेशन अथारिटीज से डाटा लिया जाता है। इसके बाद इसे आरबीआई के डिपार्टमेंट ऑफ स्टेटिस्टिक्स एंड इंर्फोमेशन मैनेजमेंट की  स्टेटिस्टिकल एनालिसिस डिवीजन के पास भेजा जाता है जोकि इसे कंपाइल कर इंडेक्स जारी करती है।