पनीर के दो टुकड़ों वाली सब्जी ऐड होते ही 95 रुपये बढ़ जाता है रेट

इलाहाबाद स्टेशन पर सही रेट पर थाली मांगने पर कर रहे मिसबिहैव

balaji.kesharwani@inext.co.in

ALLAHABAD: ट्रेन में सफर करने वाले पैसेंजर्स की सुविधा के लिए रेलवे ने सभी स्टेशनों पर डीलक्स थाली का रेट 45 रुपये फिक्स किया है. लेकिन इलाहाबाद जंक्शन पर डीलक्स थाली, केवल उसी को मिलेगी जो जन आहार के साथ ही फूड प्लाजा संचालकों से भिड़ने, बहस करने और नियम कायदों पर अड़े रहने की क्षमता रखता होगा. अन्यथा उसे 45 वाली ये थाली जबरन 130 रुपये में थमाई जाएगी.

पैसेंजर ने शेयर किया वीडियो

शुक्रवार को एक पैसेंजर ने इलाहाबाद जंक्शन के प्लेटफार्म नंबर एक पर स्थित फूड प्लाजा के कर्मचारियों से 45 रुपये की डिलक्स थाली के बारे में पूछा. पहले तो उसे टरकाया गया. फिर बुरा बर्ताव करते हुए भला-बुरा कहा गया. काफी देर बहस के बाद कर्मचारियों ने पैसेंजर को 45 रुपये वाली डीलक्स थाली दी. इस पूरे घटनाक्रम का पैसेंजर ने वीडियो बना लिया और दैनिक जागरण आई नेक्स्ट को शेयर किया.

हम पहुंचे रियलिटी देखने

पैसेंजर की शिकायत पर दैनिक जागरण आईनेक्स्ट की टीम शनिवार को रियलिटी जानने के लिए स्टेशन पर पहुंची तो पैसेंजर की शिकायत सही मिली. इस दौरान क्या हुआ ये आप भी जानें..

प्लेस: इलाहाबाद जंक्शन प्लेटफार्म नंबर वन पर स्थित फूड प्लाजा के सामने

टाईम : दोपहर 12.45 बजे

टीम जब प्लेटफार्म पर पहुंची तो बीकानेर एक्सप्रेस प्लेटफार्म नंबर एक पर खड़ी थी. पैसेंजर्स खाने के स्टाल पर व फूड प्लाजा पर उमड़े थे. फूड प्लाजा के बाहर खड़ा कर्मचारी चिल्ला रहा था. आ जाओ खाना गरमा गरम, मलाई मार के.. दही बड़ा लीजिए, दही लीजिए, लस्सी लीजिए, इधर आईए. हमारी टीम कर्मचारी के पास पहुंची और उससे सवाल किया.

भईया खाना कितने रुपये प्लेट है?

कर्मचारी: 130-130 रुपये थाली है सर.

130 रुपये में क्या-क्या है?

कर्मचारी: शाही पनीर, चार रोटी, राइस, दाल, अचार, रायता, पापड़ के साथ.

45 वाली डिलक्स थाली मिलेगी क्या?

कर्मचारी: 45 वाली थाली नहीं है सर.

45 रुपये वाला खाना यहां मिलता नहीं है क्या?

कर्मचारी: मिलता है, लेकिन गाड़ी के समय खाना खत्म हो जाता है. जब खाना होगा तो दिया जाएगा.

मतलब की इंतजार करना होगा.

कर्मचारी: और क्या. अंदर जाकर बैठ जाईए, जब 45 रुपये वाली थाली तैयार हो जाएगी, तो आपको दिया जाएगा.

प्लेस: इलाहाबाद जंक्शन प्लेटफार्म नंबर वन पर स्थित जन आहार

काउंटर पर बैठे कर्मचारी से भईया खाना कितने रुपये थाली है?

कर्मचारी: 70 रुपये की थाली है.

70 रुपये की थाली में क्या-क्या होगा?

कर्मचारी: चावल, दाल, सब्जी, रोटी, मटर पनीर मिलेगी.

45 रुपये का कैशरोल भोजन क्या है भईया. बाहर रेट लिस्ट भी लगी है?

कर्मचारी: 45 का कोई थाली नहीं है.

रेट लिस्ट तो लगा है?

कर्मचारी: मैंने बता दिया ना. 45 रुपये की कोई थाली नहीं है. 35 रुपये की थाली मिलेगी, उसमें केवल चावल, दाल और एक सब्जी मिलेगी.

जंक्शन पर स्टॉल और फूड प्लाजा वालों की मनमानी चरम पर है. इन्हें किसी का डर नहीं है. कुछ पूछो तो धमकी देकर बात करते हैं. मैं खुद मनमानी का शिकार हो चुका हूं.

अभिलाष, पैसेंजर

ट्रेन में सफर के दौरान अब रेलवे के फूड सप्लाई सिस्टम से पूरी तरह से विश्वास उठ चुका है. इलाहाबाद हो या आगरा, या मथुरा. हर जगह एक तरह की मनमानी है. निर्धारित रेट पर कोई सामान नहीं मिलता.

तरंग अग्रवाल

फूड प्लाजा हो या स्टॉल. प्रत्येक लाइसेंसी के लिए आईआरसीटीसी ने रेट निर्धारित कर रखा है. अगर निर्धारित रेट पर निर्धारित मात्रा में भोजन पैसेंजर को अवेलेबल नहीं कराया जा रहा है तो, जांच कर कार्रवाई की जाएगी. समय-समय पर कॉमर्शियल डिपार्टमेंट द्वारा कार्रवाई की जाती है.

सुनील कुमार गुप्ता, पीआरओ, इलाहाबाद मंडल