- महानगर के लिए मास्टर ड्रेनेज प्लान के अलावा और भी कई मदों रुपए आवंटित

meerut@inext.co.in

Meerut : मंडलायुक्त ने महानगर में जल भराव न हों इसके लिए ऐसी कार्ययोजना बनाने को कहा है जिससे नगर के मौहल्लों से एक-एक इंच कूड़ा उठ सकें. इसके लिए उन्होंने महानगर के लिये मास्टर ड्रेनेज प्लान बनाने के लिये नगर निगम जल निगम को बजट देने की हामी भर दी दी है. वहीं उन्होंने सभी निर्माण कार्यो को पूरी गुणवत्ता एवं पादर्शिता के ढंग से पूर्ण कराने तथा नाला निर्माण के कार्यो में पानी के निकासी की व्यवस्था भी सुनिश्चित करने के आदेश दिए हैं. इसके लिउ मंडलायुक्त ने नगर निगम के विकास एवं अन्य कार्यो के लिये 21.8325 करोड़ रूपए के प्रस्तावों पर अपनी स्वीकृति दे दी है.

करीब 22 करोड़ की स्वीकृति

आयुक्त सभागार में नगर निगम द्वारा 13वें वित्त आयोग के अ‌र्न्तगत कराये जाने वाले कार्यो के सम्बंध में बैठक की अध्यक्षता की. मंडलायुक्त आलोक सिन्हा ने जल भराव की समस्या वाले मलियाना, फाजलपुर, शोभापुरम, माधवपुरम, श्यामनगर व तारापुरी मौहल्लेां को विशेष ध्यान में रखकर कार्ययोजना बनाकर जलभराव की समस्या से निजात दिलाने के लिये 50 लाख रूपए से अधिक के बजट से कार्य कराने के लिये निर्देशित किया तथा कहा कि अगली बरसात से पहले वहां जल भराव की समस्या से वहां के वासियों को निजात दिलवायें. इस अवसर पर मंडलायुक्त ने जल निकासी, जलापूर्ति, सीवरेज व्यवस्था, नगरीय ठोस अपशिष्ट प्रबंधन, आग के खतरों से बचाव हेतु किये जाने वाले कार्यो के लिये कुल 21.8325 करोड़ रूपये के प्रस्तावों पर अपनी स्वीकृति दी.

ये होने हैं काम

- 13वे वित्त आयोग के अ‌र्न्तगत इस वित्तीय वर्ष में 17.77 करोड़ रूपये प्राप्त हुए.

- गत वित्तीय वर्ष की अवशेष धनराशि 1.77 करोड़ रूपये है.

- इस वित्तीय वर्ष में 19.54 करोड़ रूपये की धनराशि से कार्य करायें जाने हैं.

- जल निकासी के 8.75 करोड़ रूपये के प्रस्ताव हैं जिसमें फाजलपुर मिलिट्री क्षेत्र में जल निकासी हेतु नाले का निर्माण कार्य 197.20 लाख रूपये से कराया जाना है

- कमेला रोड पर नुरानी पुल का निर्माण कार्य 20 लाख रूपये कराया जाना है

- जटौली बाईपास के अबुनाले तक नाला निर्माण कार्य 45.27 लाख रूपये से कराया जाना है.

जल निकासी को लेकर मिले करोड़ों

जल निकासी के 8.75 करोड़ रूपये के प्रस्तावों के साथ-साथ जलापूर्ति हेतु कुल 2.41 करोड़ रूपये के प्रस्तावों को व सीवरेज व्यवस्था हेतु 32.25 लाख रूपये तथा नगरीय ठोस अपशिष्ट प्रबंधन हेतु 9.63 करोड़ रूपये प्रस्तावों पर मंडलायुक्त ने अपनी स्वीकृति दी. शहर की सफाई व्यवस्था को और अधिक कारगर बनाने के लिए मंडलायुक्त ने 1200 के स्थान पर 1500 कूड़ेदान खरीदने को कहा है.