666.9 एमएम पार हुई बरसात
मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार 1 जून से 29 जून सुबह 8.30 बजे तक कुल मिलाकर 666.9 एमएम बरसात रिकॉर्ड की गई है. इसने पिछले कई सालों के जून में होने वाली बरसात के रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. मौसम विभाग के एक्सपर्ट पीके पांडेय ने बताया कि 2011 के जून मंथ में 189.6 एमएम और 2012 के जून मंथ में 35.3 एमएम बरसात हुई थी.

जारी रहेगी बरसात
इंडियन मेट्रोलॉजिकल डिपार्टमेंट की जानकारी के अनुसार फिलहाल बरसात जारी रहने की संभावना है. डिपार्टमेंट के फोरकास्ट के अनुसार 30 जून को 50 एमएम, 1 जुलाई को 121 एमएम और 2 जुलाई को 29 एमएम बरसात होने की उम्मीद है.

डाटा चार्ट:
जून 2013 (29 जून सुबह 8.30 तक) - 666.9 एमएम
जून 2012- 35.3 एमएम
जून 2011- 189.6 एमएम

- 28 जून सुबह 8.30 से 29 जून सुबह 8.30 तक हुई बरसात- 342.9 एमएम
- पूरे जून मंथ में 28 जून सुबह 8.30 तक हुई बरसात- 324.0 एमएम

मोबाइल नेटवर्क ने भी खूब छकाया
लगातार हो रही बरसात ने मोबाइल यूजर्स को काफी परेशान किया. पिछले दो दिनों में कॉल ड्रॉप होने की प्राब्लम्स कंज्यूमर फेस कर रहे हैं. सबसे अधिक प्रॉब्लम तो बीएसएनएल कस्टमर्स को फेस करनी पड़ी. इसके अलावा मोबाइल पर इंटरनेट सर्विसेज भी इस बरसात में डिस्टर्ब हो गई हैं. कई मोबाइल यूजर्स ने बताया कि उनके मोबाइल में कई-कई घंटे नेटवर्क ही नहीं मिल रहा.