manish.mishra@inext.co.in

PATNA : आतंकियों को घर में घुसकर मारने वाले भारतीय वायु सेना के जांबाज विंग कमांडर अभिनंदन के वंदन में पटनाइट्स ने रिकार्ड बना दिया है। राजधानी से लेकर आसपास के इलाकों में तिरंगे की शान में बना नया कीर्तिमान कभी नहीं भूलेगा। 26 फरवरी को सेना के एयर स्ट्राइक के बाद पटना से लेकर प्रदेश के अन्य जिलों में तिरंगे का बाजार 30 लाख रुपए को पार कर गया। यह बाजार स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस से 100 गुना अधिक है।

मंदा था तिरंगे का कारोबार

26 जनवरी के बाद नेशनल फ्लैग का कारोबार ठंडा पड़ जाता है। इस कारोबार से जुड़े बिजनेसमैन का कहना है कि अगस्त और जनवरी को लेकर तैयारी होती है। 26 जनवरी के बाद बाजार डाउन हो जाता है और फिर राष्ट्रीय ध्वज कम ही बिकता है। लेकिन इस बार तो रिकार्ड टूट गया और अचानक से ही ऐसी डिमांड आई कि दिन रात एक कर झंडा तैयार कराना पड़ा। अब तक जो साइज का तिरंगा नहीं बिका उस साइज का भी तिरंगा फहराया गया।

कम पड़ गया तिरंगा

नेशनल फ्लैग के बड़े बिजनेसमैन का कहना है कि पुलवामा अटैक के बाद देश में गम का माहौल था और पटना भी इससे अछूता नहीं था। देश की शान तिरंगा भी खूब लहराया जा रहा था। एयर स्ट्राइक कर देशवासियों के जज्बे में नई जान फूंक दी। अचानक से तिरंगा की डिमांड बढ़ गई जिससे पूरा बाजार नेशनल फ्लैग से खाली हो गया।

लगातार तैयार हो रहा था झंडा

फ्लैग के बिजनेसमैन सत्येंद्र नारायण सिंह का कहना है कि अचानक से नेशनल फ्लैग की डिमांड बढ़ी और आलम यह हुआ कि रात दिन एक करके झंडा तैयार कराना पड़ा।