- पारिवारिक और स्वास्थ्य कारणों का हवाला देकर दिया इस्तीफा

- प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा निदेशक डॉ. आशुतोष सयाना ने की प्राचार्य के त्यागपत्र की पुष्टि

SRINAGAR GARHWAL: राजकीय श्रीनगर मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य प्रोफेसर डॉ. चंद्रमोहन सिंह रावत ने सोमवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया. मंगलवार से वह एक हफ्ते के आकस्मिक अवकाश पर चले गए हैं. प्राचार्य डॉ. रावत ने पारिवारिक और स्वास्थ्य कारणों का हवाला देकर अपने पद से इस्तीफा दिया है. प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा निदेशक डॉ. आशुतोष सयाना ने प्राचार्य के त्यागपत्र की पुष्टि की है. उन्होंने इस बारे में शासन के उच्चाधिकारियों से वार्ता की बात कही है.

आठ साल में क्ब् प्रचार्यो ने संभाला कार्यभार

मेडिकल कॉलेज में प्राचार्य की नियुक्ति को लेकर विवाद होता रहा है. मेडिकल कॉलेज को खुले करीब आठ साल हुए हैं. लेकिन इस अवधि में क्ब् प्राचार्यो ने कार्यभार संभाला है. कोई भी प्राचार्य अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर सका. मेडिकल कॉलेज के पहले प्राचार्य डॉ. एके मंडल को वर्ष ख्008 में आठ माह बाद ही इस्तीफा देना पड़ा था. इसी तरह प्राचार्य डॉ. एसएस मिश्रा ने भी वर्ष ख्0क्0 में कुछ ही माह बाद त्यागपत्र दे दिया था. प्राचार्य डॉ. चंद्रमोहन सिंह रावत के इस्तीफे को एनेस्थीसिया विभाग में नवनियुक्ति प्रो. डॉ. इंदिरा सामंत योग की नियुक्ति से जोड़कर देखा जा रहा है. डॉ. योग की कार्यप्रणाली से रुष्ट होकर उनके अधीनस्थ स्टाफ ने सामूहिक त्यागपत्र तक की धमकी दी है. इधर, श्रीनगर मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य का कार्यभार फिलहाल कम्युनिटी मेडिसीन विभाग के अध्यक्ष प्रो. अमित सिंह को दिया गया है.

डॉ. योग को दोबारा मिली नियुक्ति

श्रीनगर मेडिकल कॉलेज में एनेस्थीसिया विभाग में प्रोफेसर के पद पर संविदा नियुक्ति पर कार्यरत रहीं डॉ. इंदिरा सामंत योग को शासन ने मंगलवार को एनेस्थीसिया विभाग में एक साल के लिए प्रोफेसर पद पर नियुक्ति दे दी है. शासन की ओर से डॉ. योग की संविदा अवधि का रिन्यूवल नहीं करने पर फरवरी ख्0क्7 से एनेस्थीसिया विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. सुरेंद्र सिंह को विभागाध्यक्ष का कार्यभार दिया गया था. अब शासन ने डॉ. योग को दोबारा से नियुक्ति दी गई है. सात माह बाद प्रदेश शासन ने डॉ. योग को दोबारा एनेस्थीसिया विभाग में प्रोफेसर के पद पर नियुक्ति दे दी है.