पहले सादे कागज पर लिखकर देने से चल जाता था काम

अब देना होगा शपथ पत्र, नगर निगम में 200 ठेकेदार पंजीकृत

Meerut. अगर किसी ठेकेदार का फैमिली मेंबर या कोई रिश्तेदार नगर निगम में काम तो निगम ठेकेदार को कोई ठेका नहीं देगा. निगम में उसका पंजीकरण भी निरस्त कर दिया जाएगा. दरअसल, निगम में इस समय 200 से अधिक ठेकेदार पंजीकृत है. जो निर्माण विभाग, जलकल विभाग, स्वास्थ्य विभाग या फिर नगर निगम में जरूरी सामान देने का काम करते हैं. बहरहाल, निगम ने इस बाबत सभी ठेकेदारों से शपथ-पत्र मांगा है.

देना होगा शपथ पत्र

अब तक ठेकेदार निगम में केवल कागज पर यह लिखकर दे देते थे कि उसके परिवार को कोई सदस्य या फिर रिश्तेदार निगम में काम नहीं करता है. लेकिन अब निगम हर ठेकेदार से शपथ पत्र मांग रहा है. साथ ही निगम के अधिकारी हर ठेकेदार की अलग से फाइल बनवा रहे हैं. जिसमें ठेकेदार की सभी डिटेल मौजूद होंगी.

शासन के आदेशानुसार सभी ठेकेदारों से शपथ पत्र लिया जा रहा है कि उनका कोई परिवार को सदस्य या फिर रिश्तेदार निगम में काम तो नहीं करता है. कुछ ठेकेदारों ने शपथ पत्र जमा कर दिए हैं. शेष को भी जल्द से जल्द शपथ पत्र जमा करने के आदेश दिए गए हैं.

मनोज कुमार चौहान, नगर आयुक्त