- बोर्ड एग्जाम के लिए एपियर हो रहे वीक स्टूडेंट्स के लिए क्लासेज

- सरकारी स्कूलों का रिजल्ट सुधारने की है कवायद

------------

- 5 मार्च से 24 मार्च तक चलेंगेबोर्ड एग्जाम

- 2.81 लाख परीक्षार्थी होंगे एग्जाम में शामिल

- 1309 सेंटर्स पर आयोजित होंगे बोर्ड एग्जाम्स

DEHRADUN: बोर्ड एग्जाम की तैयारी में जुटे जरूरतमंद बच्चों के लिए सरकारी स्कूलों में रेमीडियल क्लासेज लगेंगी. बोर्ड एग्जाम का रिजल्ट बेहतर करने के लिए ये कवायद की जा रही है. बोर्ड एग्जाम नजदीक हैं ऐसे में शिक्षा महकमा रेमीडियल क्लासेज की तैयारियों में जुट गया है. विंटर वैकेशंस के बाद स्टूडेंट्स के लिए रेमीडियल क्लासेज शुरू की जाएंगी.

वीक स्टूडेंट्स होंगे चिन्हित

रेमीडियल क्लासेज के लिए वीक स्टूडेंट्स पर फोकस किया जा रहा है, ताकि वे बोर्ड एग्जाम की तैयारी बेहतर तरीके से कर सकें. दून के चीफ एजुकेशन ऑफिसर द्वारा सभी स्कूलों को अपने यहां वीक स्टूडेंट्स को चिन्हित करने के निर्देश जारी कर दिए हैं. पुरानी परफॉर्मेस के आधार पर वीक स्टूडेंट्स को चिन्हित किया जाएगा.

वक्त बहुत कम

विंटर वैकेशंस के बाद 16 जनवरी से स्कूल खुलने हैं. फरवरी नें बोर्ड के प्रैक्टिकल शुरू हो जाएंगे और मार्च में बोर्ड एग्जाम शुरू हो रहे हैं. ऐसे में शिक्षा महकमे को काफी कम समय में सारी योजनाओं पर काम करना है. चीफ एजुकेशन ऑफिसर एसबी जोशी ने बताया कि सभी स्कूलों को निर्देश जारी किए गए हैं कि वे अपने यहां वीक स्टूडेंट्स का चिन्हीकरण कर लें.

बोर्ड एग्जाम का यह है शेड्यूल

उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की बोर्ड परीक्षाएं पांच मार्च से शुरू होंगी, जो 24 मार्च तक चलेंगी. प्रदेशभर के 2.81 लाख परीक्षार्थियों के लिए सभी 13 जिलों में 1309 परीक्षा केंद्र बने हैं. एक फरवरी से 28 फरवरी तक प्रयोगात्मक परीक्षाएं होंगी. एक अप्रैल से बोर्ड की कॉपियों की जांच शुरू होगी. जांच का कार्य 15 अप्रैल तक चलेगा. पांच जून तक परीक्षा का परिणाम घोषित हो जाएगा.

-----------

सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के लिए रेमीडियल क्लासेज चलाने के निर्देश दिए गए हैं. डीएम ने भी बैठक कर कमजोर बच्चों पर फोकस करने का आदेश दिया है.

एसबी जोशी, सीईओ, देहरादून