-अतिक्रमण हटने के बाद शहर के सौंदर्यीकरण को लेकर मंथन

-एमडीडीए के वीसी ने ली अधिकारियों की बैठक

देहरादून, हाईकोर्ट के आदेश के बाद देहरादून शहर में अतिक्त्रमण हटाए जाने के बाद सड़कों के चौड़ीकरण और सौन्दर्यीकरण किया जाएगा. इस काम के लिए करीब 100 करोड़ रुपये की जरूरत पड़ेगी. एमडीडीए के वीसी डा. आशीष श्रीवास्तव की अध्यक्षता में इस मामले में हुई बैठक में सड़कों के सौंदर्यीकरण को बढ़ाने व टिकाऊ स्मार्ट समाधान जोड़ने पर सुझाव दिए गए.

विभाग सौंपेंगे एस्टीमेट

बैठक में निर्णय लिया गया कि बिजली के तारों व पानी के कनेक्शंस को अंडर ग्राउंड किया जाए. यूपीसीएल व जल संस्थान को निर्देश दिए गए हैं कि वे इस बाबत अपने एस्टीमेट व राय पीडब्ल्यूडी को देंगे. बैठक में बताया गया कि दून शहर में अतिक्रमण हटने के बाद सड़क सुधार योजना के लिए करीब 100 करोड़ रुपये की जरूरत पड़ेगी.

ईसी व डीएवी रोड होंगे स्मार्ट

बताया गया कि ईसी रोड और डीएवी रोड को स्मार्ट सड़कों में शामिल करने के लिए वित्तीय सहायता का कुछ हिस्सा स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के माध्यम से प्रदान किया जाएगा. इस दौरान यातायात की भीड़ को कम करने व यातायात के आवागमन को सुगम बनाने के लिए डीएवी रोड पर एक तरफ यातायात योजना के प्रावधान को लागू करने के लिए भी चर्चा की गई. बैठक के बाद यह निर्णय लिया गया कि परियोजना के विवरण को अंतिम रूप देने के लिए सभी स्टेक होल्डर्स फिर से गुरुवार को मिलेंगे. बैठक में नगर आयुक्त, एमडीडीए सचिव, पीडब्ल्यूडी के मुख्य अभियंता, यूपीसीएल, जल संस्थान के अधिकारी भी शामिल रहे.

मुख्य बातें

-सभी सड़कों पर एचटी, एलटी व अन्य उपयोगिता के लिए नलिकाओं का प्रावधान होगा.

- शहर में पानी के स्तर को बढ़ाने के लिए पानी रिचार्ज के लिये गढ्डे बनाए जाएंगे.

-जानकारी जल संस्थान द्वारा पीडब्ल्यूडी को दी जाएगी.

-इसकी लागत को परियोजना की लागत में समग्र रूप से जोड़ा जाएगा.

-रिचार्ज पिट(गढ्डे) उचित आवरण व अन्य महत्वपूर्ण विशेषताओं के साथ बनाया जाएगा.

-पीडब्ल्यूडी को सड़क से नालियों तक पानी के इनपुट बिंदुओं की संख्या बढ़ाने को दिए गए निर्देश.

-एमडीडीए उपाध्यक्ष ने संबंधित विभाग को इस मामले के लिए स्मार्ट समाधान की तलाश करने के भी दिए निर्देश.