सेना खिलाफ नफरत फैलाने का आरोप
एक पाकिस्‍तानी वकील ने अपने ही देश के प्रधानमंत्री के खिलाफ स्‍थानीय पुलिस थाने में शिकायत दर्ज की है। इस शिकायत में प्रधानमंत्री नवाज शरीफ पर पाक सेना के खिलाफ लोगों में घृणा फैलाने का आरोप लगाया गया है। इस शख्‍स ने अपने पास प्रमाण के तौर पर एक वीडियो भी मौजूद होने का दावा किया है। हालाकि पुलिस का कहना है कि यह एफआइआर नहीं है। बल्‍कि प्राप्त हुई तहरीर को रोजनामचा में दर्ज किया गया है।

सोशलमीडिया है रिपोर्ट का आधार
शरीफ के खिलाफ रिर्पोट का ये मामला पाकिस्‍तान में रावलपिंडी का है। यहां एक वकील इसाक अहमद मिर्जा ने सिविल लाइन पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई। मिर्जा खुद को पाकिस्तान चुनाव आयोग में पंजीकृत आइएम पाकिस्तान पार्टी का प्रमुख बताते हैं। खास बात ये है कि इस शिकायत का आधार सोशल मीडिया बना है। मिर्जा का कहना है कि उन्हें वाट्सएप पर शरीफ के भाषण का एक वीडियो मिला है। इसमें वह लोगों को सेना के खिलाफ भड़काकर नफरत फैला रहे हैं। उन्‍होंने शरीफ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की है। गौरतलब है कि पाकिस्तानी की राजनीति में सेना की अहम भूमिका रही है। देश के 70 साल के इतिहास में यहां 33 साल से ज्यादा समय तक सेना का शासन रहा है।

अमेरिका ने पाक को किया बेनकाब, बताई यह सच्‍चाई

पाक के नापाक हरकतों की खोली पोल

जब इमरान खान ने की गलत खबर पर सीरियस ट्वीट, पाकिस्‍तानी आवाम में बन गए अप्रैल फूल

International News inextlive from World News Desk