KANPUR : सरकारी अस्पतालों में अब एक भी एमआर देखने को नहीं मिलेगा. इनकी एंट्री पर पूरी तरह बैन लगा दिया गया है. इन पर रोक की जिम्मेदारी सीएमओ को सौंपी गई है. सैटरडे को आयोजित स्वास्थ्य एवं पोषण मिशन की समीक्षा बैठक के दौरान कमिश्नर पीके महान्ति ने यह निर्देश दिए. सीएमओ को सख्त हिदायत देते हुए कहा इनकी रोक को कड़ी से पालन कराएं. मीटिंग के दौरान मंडल के सभी स्वास्थ्य अधिकारी मौजूद रहे. इस दौरान उन्होंने कहा कि डेंगू से पीडि़तों के लिए पर्याप्त बंदोबस्त किए जाएं. वहीं फर्रुखाबाद में एक सरकारी हॉस्पिटल के सामने डॉक्टर्स प्राइवेट क्लीनिक चला रहे थे, जिन्हें कमिश्नर ने सस्पेंड करने के आदेश दिए हैं.