RANCHI: रिम्स में जल्द ही रिटायर्ड आर्मी के जवान मोर्चा संभाल लेंगे. इसे लेकर गुरुवार को रिटायर्ड आर्मी एसोसिएशन के लिए काम करने वाली एजेंसी के अधिकारियों ने हास्पिटल का जायजा लिया. उन्होंने रिम्स का कोना-कोना छान मारा और सभी पोस्ट पर जाकर वहां की व्यवस्था देखी. इसके अलावा उन्होंने गा‌र्ड्स से काम करने का तरीका, टाइमिंग और पोस्ट पर उनकी संख्या के बारे में भी जानकारी ली. डिप्टी सुपरिंटेंडेंट डॉ. संजय कुमार ने बताया कि जल्द ही हास्पिटल में बंदूकधारी तैनात होंगे. इसके लिए भविष्य में रिम्स प्रबंधन की आ‌र्म्स भी खरीदने की योजना है. संस्था उपलब्ध कराएगी जवान

गा‌र्ड्स की ड्यटी समझने के लिए आई टीम ने जगह-जगह की व्यवस्था देखी. इस दौरान वे लोग डीएस से भी मिले. डीएस ने बताया कि रिटायर्ड आर्मी के जवानों को एक संस्था काम उपलब्ध कराती है. उसी के तहत संस्था की ओर से जवान उपलब्ध कराए जाएंगे. फिलहाल जवान हथियार रखेंगे या नहीं इस पर विचार हो रहा है. हालांकि आर्मी के जवानों के पास आ‌र्म्स रखने का लाइसेंस होता है. इसलिए कभी योजना बनती है तो उन्हें परेशानी नहीं होगी.

आ‌र्म्स खरीदेगा रिम्स प्रबंधन

हास्पिटल की सुरक्षा की जिम्मेवारी जल्द ही आर्मी के रिटायर्ड जवानों के हाथों में होगी. ऐसे में उन्हें भविष्य में आ‌र्म्स देने की तैयारी है. डीएस ने बताया कि इसके लिए रिम्स प्रबंधन आ‌र्म्स की खरीदारी करेगा. वहीं शिफ्ट के अनुसार, ड्यूटी खत्म करने के बाद आ‌र्म्स स्टोर में जमा कराना होगा. वहीं से दूसरी शिफ्ट के जवानों को आ‌र्म्स जारी किया जाएगा. ऐसे में रिम्स की व्यवस्था भी सुधरेगी. साथ ही किसी भी तरह का हंगामा होने पर तत्काल उससे निपटा जा सकेगा.