- गोरखपुर जंक्शन पर रिटायरिंग रूम होगा अपग्रेड, होटल की तर्ज पर किया जाएगा विकसित

- 11 नवंबर से आईआरसीटीसी को हो जाएगा हैंडओवर

GORAKHPUR: व‌र्ल्ड क्लास स्टेशन होने के बाद भी गोरखपुर जंक्शन पर पैसेंजर्स को व‌र्ल्ड क्लास फैसिलिटी नहीं मिल पाती थी. ठहरने के लिए तो यहां व्यवस्था है, लेकिन कमरे में ही खाना और एंटरटेनमेंट का इंतजाम नहीं था. मगर अब ऐसा नहीं होगा. जल्द गोरखपुर जंक्शन पर व‌र्ल्ड क्लास फैसिलिटी का लुत्फ उठा सकेंगे. उन्हें कमरे में ही मनचाहा खाना मिलेगा, वहीं वह चैन की नींद भी सो सकेंगे. 11 नवंबर से गोरखपुर जंक्शन का रिटायरिंग रूम अपग्रेडेशन के लिए आईआरसीटीसी को हैंडओवर हो जाएगा. इसके कुछ माह बाद लोगों को बेहतर फैसिलिटी ि1मलने लगेगी.

तीन फेज में होगा कायाकल्प

रेलवे स्टेशन के रिटायरिंग रूम और डॉरमेट्री एडवांस होटल की तरह होंगे. कायाकल्प तीन फेज में किया जाएगा. पहले फेज में रेलवे एडमिनिस्ट्रेशन ने गोरखपुर जंक्शन के सात रिटायरिंग रूम्स को इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कार्पोरेशन (आईआरसीटीसी) को हैंडओवर कर दिया है. 10 नवंबर से निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा, जिसके बाद इसकी बुकिंग भी नहीं की जाएगी. आईआरसीटीसी ने इसके लिए टेंडर आदि की प्रॉसेस पहले ही पूरी कर ली है. कमरे में ही लजीज नाश्ता और मनपसंद खाने के अलावा टीवी और मैग्जीन भी अवेलबल होगी. घंटी बजाने पर कर्मचारी भी सामने मौजूद हो जाएंगे.

फ‌र्स्ट फेज में इनका कायाकल्प

- यात्री निवास डॉरमेट्री नंबर 136

- एसी वेटिंग रूम नंबर 138, 139, 141, 142

- डॉरमेट्री नंबर 140, 143

जंक्शन पर हैं कुल 23 कमरे

गोरखपुर जंक्शन पर टोटल 23 कमरे हैं. 17 रिटायरिंग रूम के लिए हैं. बाकी छह बड़े कमरे डारमेट्री के लिए बुक होते हैं. डारमेट्री में 52 बेड हैं. रिटायरिंग रूम में दो एसी डीलक्स डबल बेड, चार एसी डबल बेड, एक एसी सिंगल बेड, सात नॉन एसी डबल बेड और तीन नान एसी सिंगल बेड हैं.

वर्जन

गोरखपुर और लखनऊ के रनिंग रूम और डॉरमेट्री को अपग्रेड किया जा रहा है. इसकी प्रॉसेस शुरू हो चुकी है. पैसेंजर्स को रेलवे स्टेशन पर ही ठहरने और खाने-पीने की बेहतर सुविधाएं मिल जाएंगी.

- अश्रि्वनी श्रीवास्तव, सीआरएम, आईआरसीटीसी