lucknow@inext.co.in
LUCKNOW: बुलंदशहर में भड़की हिंसा से नाराज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार देर रात तक अफसरों के पेंच कसे तो एक कड़वा सच भी सामने आया कि सूबे में तमाम पाबंदी के बावजूद गोकशी के मामले जारी है। गो-तस्करों को तमाम अधिकारियों और कर्मचारियों की शह मिली हुई है जो उनकी जेबें भरकर अपना धंधा बदस्तूर चला रहे हैं। यही वजह है कि मुख्यमंत्री ने इस बात पर गहरी नाराजगी जताई कि मार्च, 2017 में सूबे में गोकशी पर पूरी तरह पाबंदी लगने के बावजूद इस पर सख्ती से अमल क्यों नहीं किया गया। आखिर पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी सरकार के इस फैसले पर अमल करा पाने में नाकाम क्यों साबित हुए।

नगर विकास के पास 'नाखून' नहीं

सूबे में गोकशी की घटनाएं जारी रहने की वजह साफ है। नगर विकास विभाग सिर्फ शहरों के लिए जवाबदेह है और ग्रामीण इलाकों में इसे लेकर कोई पुख्ता व्यवस्था नहीं की गयी। नगर विकास विभाग ने भी केवल उन्हीं अवैध स्लॉटर हाउस पर सख्ती बरती जो नियमों के मुताबिक काम नहीं कर रहे थे। नतीजतन शहरों के ग्रामीण इलाकों में होने वाले गोकशी के मामले तो कुछ कम हुए पर ग्रामीण इलाकों में इसके नये ब्लैक स्पॉट बनते चले गये। ऐसा ही बुलंदशहर की घटना में भी सामने आया है। सूत्र बताते हैं कि सूबे में गोकशी जारी रहने की एक गोपनीय रिपोर्ट मुख्यमंत्री कार्यालय में है जिसकी वजह से मुख्यमंत्री ने अपनी नाराजगी व्यक्त की। इसके अलावा उन्होंने छेड़खानी की घटनाओं की रोकथाम के भी सख्त निर्देश दिए क्योंकि इससे होने वाली घटनाओं से सरकार की छवि खराब होती है। बैठक में उन्होंने इस बात पर भी सख्ती बरतने को कहा कि किसी भी सूरत में बिना अनुमति धार्मिक स्थलों का निर्माण नहीं होना चाहिए। साथ ही परंपरागत आयोजनों को छोड़कर किसी अन्य बड़े आयोजन के लिए बिना शासन की अनुमति के हरी झंडी न दी जाए।     

अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई  

सूबे में गोकशी की घटनाओं को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा गहरी नाराजगी व्यक्त किए जाने के बाद बुधवार को मुख्य सचिव डॉक्टर अनूप चंद्र पांडे ने आलाधिकारियों को तलब कर स्पष्ट कर दिया कि किसी भी सूरत में यदि गोकशी का कोई मामला सामने आता है तो संबंधित जिले के वरिष्ठ अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार, एडीजी एलओ आनंद कुमार की मौजूदगी में मुख्य सचिव ने वीडियो कांफ्रेंसिंग में समस्त जिलाधिकारियों और पुलिस कप्तानों को सख्त निर्देश दिए कि गोकशी को लेकर कानून-व्यवस्था बिगडऩे पर उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने कहा कि वे अपने जिले के स्लॉटर हाउसों पर कड़ी नजर रखें और कोई गड़बड़ी मिलने पर सख्त कार्रवाई करें।

बुलंदशहर : दिवंगत इंस्पेक्टर के पत्नी-बेटों से सीएम योगी ने की मुलाकात, परिजनाें को दिया ये आश्वासन

National News inextlive from India News Desk