क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : रिम्स में मारपीट का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. कभी डॉक्टर परिजनों को पीटते हैं तो कभी गा‌र्ड्स परिजनों से हाथापाई कर बैठते हैं. अब गुरुवार को एक बार फिर जूनियर डॉक्टर की दादागीरी देखने को मिली, जहां पार्किग को लेकर जूनियर डॉक्टर ने एक डॉक्टर के ड्राइवर को ही थप्पड़ जड़ दिया. हंगामे की सूचना बरियातू थाना पुलिस को दी गई तो पुलिस पहुंची और मामले को सुलझाने का प्रयास किया. वहीं, डिप्टी डायरेक्टर ने भी दोनों पक्षों से बातचीत कर मामला सुलझा लेने की बात कहीं. उन्होंने कहा कि मिस अंडरस्टैंडिंग की वजह से विवाद हुआ था.

मंत्री ने दिया आदेश

अचानक से रिम्स पहुंचे स्वास्थ्य मंत्री को घटना की जानकारी मिली तो उन्होंने प्रबंधन को मामला देखने का आदेश दिया. कहा कि ऐसे झगड़ों को प्रबंधन तत्काल निपाटाए तो बेहतर होगा. स्वास्थ्य मंत्री ने इस मामले में प्रबंधन को निपटाने का आदेश दे दिया. लेकिन सबसे बड़ा सवाल यह है कि आखिर डॉक्टरों की इस मनमानी पर लगाम कब लगेगी.